सारण [जेएनएन]। बिहार के सारण में बुधवार को एक बड़ी रेल दुर्घटना टल गई। हटिया से गोरखपुर जा रही अप 15027 हटिया-गोरखपुर एक्सप्रेस ट्रेन छपरा-सोनपुर रेलखंड के नयागांव -परमानंदपुर रेलवे स्टेशन के बीच दुर्घटना होने से बाल-बाल बच गई । इन स्टेशनो के बीच अप लाइन के 282/23 किलोमीटर पर पटरी टेढी थी। गैंगमैन व ग्रामीणो की सूझबूझ से ट्रेन को नयागांव होम सिग्नल के पास रोक लिया गया । इस तरह सैकड़ों यात्रियों की जान बच सकी। 

 

बताया जाता है कि बुधवार को अप मौर्य एक्सप्रेस अपने नियत समय से 27 मिनट विलंब से सोनपुर जंक्शन से दिघवारा के लिए खुली। इस बीच लाइन पर कार्य कर रहे गैंगमैन की नजर अप ट्रैक की एक पटरी पर पड़ी तो भौचक रह गया। पटरी कुछ दूरी तक टेढी थी। गैंगमैन ने फौरन इसकी सूचना नयागांव स्टेशन मास्टर को दिया। तबतक उक्त ट्रेन परमानंदपुर रेलवे स्टेशन से लाइन क्लियर मिलने से उक्त स्टेशन से निकल चुकी थी।

 

नयागांव स्टेशन मास्टर अमित कुमार ने घटना की सूचना सोनपुर कंट्रोल को देते हुए सूझबूझ से ट्रेन को टेढ़ी हो चुकी पटरी से ठीक 500 मीटर पहले ट्रेन को रोक लिया और एक बडी दुर्घटना होने से उक्त ट्रेन बाल बाल बच गई। टेढ़ी पटरी की मरम्मत के कार्य के चलते करीब डेढ घंटा तक ट्रेन खड़ी रही। इस दौरान अप बिहार संपर्क सुपरफास्ट व अप बाघ एक्सप्रेस ट्रेन भी जहां की तहां रूकी रही।

 

मौके पर डीईएन लाइन, एईएन व पीडब्ल्यूआई के नेतृत्व में विभागीय कर्मियों ने पटरी को दुरूस्त किया गया तब जाकर परिचालन सामान्य हो पाया। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक दिलीप कुमार ने बताया कि पटरी में कुछ गड़बड़ी आ गई थी। 30 किलोमीटर स्पीड कासन लगाया गया है। मुख्य रूप से इंजिनियरिंग विभाग के आपरेशन सेल ,जेई सिग्नल और मौजूद गैंगमैन की टीम ने सराहनीय कार्य किया।

Posted By: Ravi Ranjan