पटना, जेएनएन। बिहार में फिर मानसून सक्रिय हो गया है। इसका असर लगभग सभी जिलों में देखने को मिल रहा है। आकाश में उमड़ते-घुमड़ते काले मेघों से आम आदमी से लेकर किसान तक खुश हैं। सुहाने मौसम का आनंद हर कोई ले रहा है।
लेकिन इस बारिश ने नगर निकायों की पोल भी खोल दी है। इस बीच वैशाली में बारिश से मिट्टी की दीवार गिरने के कारण आधा दर्जन लोग घायल हो गए। दीवार से दबकर एक नवजात की मौत हो गई।

12 जुलाई तक बनी रहेगी यही स्थिति
मिल रही जानकारी के अनुसार बिहार के लगभग जिलों में मानसून के बादल छाए हुए हैं। कुछ जगहों पर गरज के साथ छींटे पड़ रहे हैं तो कहीं बूंदाबांदी हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार, गंगा के तटीय  क्षेत्र, झारखंड और मध्यप्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्र में जोरदार वर्षा और ओले पडऩे की संभावना है। दक्षिण-पश्चिम मानसून के सक्रिय होने से पटना सहित पूरे प्रदेश में बादल छा गए हैं। यह स्थिति 12 जुलाई तक बनी रहेगी। 

पटना में भी मौसम हुआ सुहाना
इधर पटना में बीती रात से काले-काले मेघ रुक-रुक कर बरस रहे हैं। पटना में चाहे बात पाटलिपुत्रा की करें या कंकड़बाग की। गांधी मैदान की बात हो या फिर पटना सिटी की। बारिश ने पटना के मौसम को सुहाना बना दिया है। वहीं निचले इलाकों में जलजमाव होने से उन इलाकों के लोगों की परेशानी बढ़ गई है।   

जिलों में भी हो रही बारिश 
बिहार के बाकी जिलों से भी बारिश की खबर आ रही है। बेगूसराय, गया, नवादा, भागलपुर, पूर्णिया, छपरा, सिवान, दरभंगा, नालंदा, नवादा, शेखपुरा, जमुई आदि जिलों में बारिश हो रही है। बताया जाता है कि गया, भागलपुर सहित कई जिलों में कल से ही मौसम ने मानसूनी रंग में खुद का ढाल लिया है। किशनगंज, दरभंगा, सहरसा, कटिहार आदि जिलों में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। हालांकि अभी तक किसी भी जिले से ओले पड़ने की सूचना नहीं मिली है।   

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajesh Thakur