पटना [राज्य ब्यूरो]। चुनाव आयोग ने 6 मई से खाली हो रही बिहार विधान परिषद की 11 सीटों के लिए चुनाव की तारीख घोषित कर दी है। इन सीटों पर 26 मई को मतदान होगा। संभावना है कि राज्यसभा की तरह विधान परिषद चुनाव में भी मतदान की नौबत नहीं आए।

विधान परिषद की एक सीट के लिए 22 वोट की जरूरत होगी। विधानसभा में दलों के संख्या बल के आधार पर जदयू-भाजपा गठबंधन को छह और राजद गठबंधन को पांच सीटें मिलनी तय है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, राबड़ी देवी, संजय सिंह, चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी, राज किशोर कुशवाहा, लाल बाबू प्रसाद, सत्येंद्र नारायण सिंह, उपेंद्र प्रसाद का कार्यकाल समाप्त होने तथा नरेंद्र सिंह की 6 जनवरी 2016 को सदस्यता समाप्त होने से रिक्त हुई सीट पर यह चुनाव हो रहा है।

9 अप्रैल को इसकी अधिसूचना जारी होगी। 16 अप्रैल तक नामांकन भरे जाएंगे। 17 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 19 अप्रैल तक नाम वापस लिए जाएंगे। यदि आवश्यक हुआ तो 26 अप्रैल का मतदान होगा। एनडीए की ओर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का प्रत्याशी बनना तय है। जदयू प्रवक्ता संजय सिंह तथा चंदेश्वर चंद्रवंंशी का पिछला कार्यकाल महज दो साल का होने के कारण दोबारा प्रत्याशी बनाए जाने की चर्चा है। राजद से राबड़ी देवी, प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे और पूर्व मंत्री जगदानंद के प्रत्याशी बनाए जाने की चर्चा है। कांग्रेस के विधानसभा में 27 सदस्य है। इसलिए उसके भी एक प्रत्याशी की जीत तय है।

Posted By: Amit Alok