पटना, जेएनएन। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत बिहार के सभी मंत्रियों ने मंगलवार देर रात अपनी संपत्तियों का ब्योरा जारी कर दिया है। प्रत्येक साल की तरह इस बार भी मुख्यमंत्री से ज्यादा धनी उनके पुत्र निशांत हैं। दोनों की संपत्ति में पिछले एक साल के दौरान कोई खास बदलाव नहीं आया है। नकदी में निरंतर कमी आ रही है। 

वर्ष 2018 में नीतीश के पास 16 लाख 18 हजार 947 रुपये की संपत्ति थी, जो इस बार करीब दस हजार रुपये की मामूली बढ़त के साथ 16 लाख 28 हजार 353 रुपये की हो गई है और उनके पुत्र निशांत के पास 2018 में एक करोड़ 29 लाख 88 हजार 565 रुपये की संपत्ति थी, जो अबकी बढ़कर एक करोड़ 39 लाख 82 हजार की हो गई है। 

तो वहीं प्रदेश के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ज्यादा अमीर हैं। इतना ही नहीं उनकी पत्नी अपने पति सुशील मोदी से ज्यादा अमीर हैं। मंगलवार को घोषित अपनी संपत्ति के ब्योरे में मोदी ने इस बात की जानकारी दी है। बैंक में जमा, शेयर में निवेश, सोना और इंश्योरेंस में निवेश मिलाकर सुशील मोदी के पास करीब 1.26 करोड़ रुपये की संपत्ति है। मोदी के मुकाबले उनकी पत्नी के पास इस प्रकार के निवेश और जमा मिलाकर कुल 1.65 करोड़ रुपये की संपत्ति है। 

पत्नी से अमीर हैं स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय 

 प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय अपनी पत्नी से करीब दोगुना अमीर हैं। मंगल पांडेय के पास कुल 86.52 लाख रुपये मूल्य की संपत्ति है तो उनकी पत्नी के पास कुल 42.31 लाख रुपये मूल्य की संपत्ति है। नकद के रूप में मंगल पांडेय के पास 23500 रुपये और उनकी पत्नी के पास 38 हजार रुपये हैं। दो बैंक खातों में मंगल पांडेय ने अन्य सेविंग सहित करीब 10.78 लाख रुपये जमा किए हैं।

नीतीश कैबिनेट के सबसे गरीब मंत्री हैं बृजकिशोर बिंद 

खान एवं भूतत्व विभाग के मंत्री बृजकिशोर बिंद नीतीश सरकार के सबसे कम पैसे वाले मंत्री हैं। उनके पास बैंकों में करीब 37 लाख  27 हजर रुपये जमा है और पत्नी के नाम छह लाख 73 हजार रुपये जमा हैं।  इनके पास एक स्कार्पियो और एक बोलेरो गाड़ी है और गाड़ी खरीद का साढ़े आठ लाख कर्ज भी है। 

पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव हैं करोड़पति

राज्य के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव के पास कुल एक करोड़ की संपत्ति है। उनके पास 1991  में पांच हजार रुपये में  खरीदी गयी बजाज सुपर स्कूटर है और नकद के रूप में 14200 है, जबकि, बैंकों में करीब 40 लाख रुपये जमा हैं।

गाड़ियों के शौकीन हैं उद्योग मंत्री श्याम रजक, पत्नी अधिक धनवान 

राज्य के उद्योग मंत्री श्याम रजक गाड़ियों के शौकीन हैं। उनके पास होंडा सिटी कार और दो स्कार्पियो है तो वहीं उनकी पत्नी के पास टाटा सफारी है।  रजक के पास 1.20 करोड़ और पत्नी के नाम 93 लाख की संपत्ति है। नकद  के मामले में वे पत्नी अधिक धनवान हैं।

जर्मन बंदूक के शौकीन हैं शिक्षा मंत्री, कर्ज लेकर खरीदा स्कॉर्पियो

शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा के पास एक जर्मन बंदूक है तो वहीं उन्होंने कर्ज लेकर स्कार्पियो खरीदा है।  इनके पास नकद 82 हजार रुपये हैं तो वहीं उनकी पत्नी के पास 55 हजार रुपये नकद है। 

तीन बड़ी गाड़ियों की मालकिन हैं गन्ना मंत्री बीमा भारती 

गन्ना मंत्री बीमा भारती  के पास नकद साठ हजार रुपये है और इनके पति अवधेश मंडल के पास  नकद एक लाख 20 रुपये हैं। बैंकों में बीमा भारती के नाम पांच लाख 59 हजर रुपये जमा हैंं। बीमा भारती के पास तीन बड़ी गाड़ियां हैं और उनपर छह लाख रुपये का कर्ज भी है। 

कपिलदेव कामत के पास नहीं हैं ज्यादा पैसे

पंचायती राज मंत्री कपिल देव कामत के पास 35 हजार रुपये कैश है, जबकि पत्नी के पास कैश भी नहीं हैं। मंत्री ने पांच बैंक खातों में करीब 44 लाख रुपये जमा कर रखे हैं तो पत्नी के पास तीन खातों में 1.06 लाख जमा है।मंत्री के पास एक टवेरा और एक स्कार्पियो, 340 ग्राम सोना और पत्नी के पास 140 ग्राम सोना और तीन किलो चांदी है। दस लाख की कीमत वाला एक घर भी है।

एक करोड़ से अधिक अचल संपत्ति है समाज कल्याण मंत्री के पास

समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिंह के पास सबसे अधिक 1.34 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति है। उनके पास निवेश, सोना,चांदी, वाहन और बीमा को लेकर कुल 36.43 लाख की चल संपत्ति हैं। 

 राइफल व पिस्टल के शौकीन हैं मंत्री जय कुमार सिंह

विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री जय कुमार सिंह हथियारों के शौकीन हैं। उनके पास एक रिवॉल्वर और एक राइफल है। उनके पास तीन लाख 21 हजार की चल संपत्ति है जबकि पत्नी के पास 14.14 लाख की चल संपत्ति है।

जानिए कौन अमीर-कौन है गरीब

इसके अलावा राणा रणधीर के पास एक राइफल और एक रिवाल्वर के साथ ही एक लाख कैश भी है। योजना एवं विकास मंत्री महेश्वर हजारी के पास जहां 1.01 करोड़ की अचल संपत्ति है तो उनकी पत्नी के पास 2.48 करोड़ की अचल संपत्ति है। आपदा प्रबंधन मंत्री लक्ष्मेश्वर राय के पास पांच हजार नकद और पत्नी के पास 15 हजार रुपये नकद है। उनकी पत्नी और उनके पास ज्वेलरी नहीं है. 81 लाख की चल व अचल संपत्ति है। 

कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री प्रमोद कुमार राइफल और पिस्टल के शौकीन हैं। उनकी पत्नी सहित उनके पास करीब तीन करोड़ 60 लाख 50 हजार 476 रुपये की संपत्ति है। तो वहीं, विधि मंत्री नरेंद्र नारायण यादव करोड़पति हैं। अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद इलियास फिरोज अहमद और उनकी पत्नी के पास ट्रैक्टर है, लेकिन, मंत्री के पास खेती की जमीन नहीं, लेकिन पत्नी के पास खेती के लिए डेढ़ एकड़ व छह कट्ठा की दो जमीनें और एक ईंट की चिमनी है।

सूचना एवं जन-संपर्क मंत्री नीरज कुमार के पास 49 हजार 390 रुपये की बाइक है, पत्नी से ज्यादा कैश रखते हैं।उनके पास 18,369 रुपये है, जबकि पत्नी के पास 8,812 रुपये, बेटे के पास आठ हजार 812 और बेटी के पास नौ हजार 587 रुपये कैश है। 

पहली बार मंत्री बने संजय झा की संपत्ति कई मंत्रियों से अधिक है। सरकारी बेवसाइट पर जारी संपत्ति के ब्योरे के अनुसार संजय झा खुद एक करोड़ 93 लाख की चल संपत्ति के स्वामी हैं। खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन सहनी पर कोई कर्ज नहीं है। पत्नी सहित उनके पास एक करोड़ 39 लाख 97 हजार 921 रुपये की चल और अचल संपत्ति है। 

परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला टाटा सफारी और स्कॉर्पियो के मालिक हैं और मंत्री के पास केवल 30 हजार रुपये नकदी है जबकि उनकी पत्नी के पास दो लाख 24 हजार रुपये नकद हैं। पत्नी सहित उनके पास एक करोड़ 49 लाख 44 हजार 260 रुपये की कुल संपत्ति है। 

मंत्री अशोक चौधरी के पास एक लाख का रिवाल्वर है और उनकी पत्नी के पास ढाई लाख का रिवाल्वर है।इसके अलावा चौधरी ने बैंक से अड़तीस लाख पच्चीस हजार का लोन ले रखा है, तो वहीं, व्यवसाय में 36 लाख 41 हजार का इनवेस्टमेंट भी किया है। दूसरी ओर पत्नी पर दस लाख का बैंक का लोन है।

नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा के पास कुल सात करोड़ 68 लाख की चल संपत्ति है। मंत्री के पास नौ लाख 36 हजार 749 रुपया बैंक में डिपोजिट, शेयर में 17 लाख, 36 हजार 880, म्यूचुअल फंड में 16 लाख 21 हजार 671 रुपया है। 

श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा से अधिक उनकी पत्नी के पास कैश है। जहां मंत्री के पास कैश पच्चीस हजार है, तो पत्नी के पास 49 हजार है। वहीं, चार बैंक एकाउंट मंत्री और दो बैंक एकाउंट पत्नी के नाम पर है।

राजस्व व भूमि सुधार मंत्री राम नारायण मंडल हथियार के शौकीन है। इनके पास 315 बोर की एक राइफल और 60 हजार कीमत वाली एक रिवाल्वर है। मंत्री के पास 25 ग्राम और मंत्री की पत्नी के पास करीब दो लाख 35 हजार की कीमत का 60 ग्राम सोना है। इसके अलावा मंत्री ने तीन बैंक खातों में 27 लाख 83 हजार आठ सौ दो हैं।

अनुसूचित जाति व जनजाति  मंत्री मंत्री रमेश ऋषिदेव के पास 91 लाख 13 हजार नौ सौ 28 रुपये की चल और 48 लाख पांच हजार की अचल संपत्ति है। मंत्री की पत्नी के पास 15 लाख नौ हजार 60 रुपये की चल और एक करोड़ 54 लाख 86 हजार सात सौ रुपये की अचल संपत्ति  है।

कृषि मंत्री प्रेम कुमार राइफल्स, बंदूक और रिवॉल्वर के शौकीन हैं उनके पास यह तीनों हथियार हैं। उनका परिवार गहनों का भी शौकीन है। खुद मंत्री के पास पांच लाख 40 हजार मूल्य का 120 ग्राम सोना और एक लाख 84 हजार मूल्य का चार किलोग्राम चांदी है।

ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार ज्वेलरी के शौकीन हैं। पत्नी सहित उनके पास कुल तीन करोड़ 58 लाख 97 हजार 238 रुपये की संपत्ति है। मंत्री के पास सात सोने के चेन और 10 अंगुठियां हैं। 

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस