पटना [जेएनएन]। माओवादियों की पटना जंक्शन और गया स्टेशन को उड़ाने की धमकी की सूचना मिलते ही रेल पुलिस के होश उड़ गए। आनन-फानन में रेड अलर्ट घोषित कर दिया गया। रेल एसपी अशोक कुमार सिंह और वरीय कमांडेंट चंद्रमोहन मिश्र पटना जंक्शन पहुंचे। देखते ही देखते आरपीएफ और जीआरपी ने संयुक्त रूप से ट्रेनों की  जांच शुरू कर दी। सभी गेटों पर फोर्स तैनात कर दी गई है। डॉग स्क्वायड और बम निरोधक दस्ता भी मौके पर पहुंच गया। 

रेल एसपी और वरीय कमांडेंट के नेतृत्व में पटना जंक्शन के आसपास गहन जांच की गई। स्थानीय पुलिस से पटना जंक्शन से सटे इलाके में अलर्ट रहने का आग्रह किया है। पटना पुलिस भी चौकस हो गई तथा महावीर मंदिर और करबिगहिया छोर पर विशेष निगरानी की जा रही है। यात्रियों की जांच की गई। लगेज बैग मशीन खराब रहने से रेल पुलिस को परेशानियों का सामना करना पड़ा। 

आरपीएफ ने पटना जंक्शन पर लगे सीसी कैमरों से सघन जांच की। अतिरिक्त फोर्स लगाई गई है। तस्वीर को बड़ी करके देखा जा रहा है। पटना जंक्शन के वाहन पार्किंग क्षेत्र का भी गहन निरीक्षण किया गया। रेलवे ब्रिजों से भी निगरानी की जा रही है। ट्रेनों के आने के समय और यात्रियों की भीड़ वाले क्षेत्रों में विशेष चौकसी बरती जा रही है।

रेल एसपी अशोक कुमार सिंह ने बताया कि 18 माह पहले माओवादियों ने पटना और गया स्टेशन को उड़ाने की धमकी दी थी। इस संबंध में पर्ची चस्पा की गई थी। 18 माह पुरानी सूचना को रविवार की शाम सोशल मीडिया में फिर से जारी कर दिया गया।

इसके बाद पटना और गया स्टेशन पर अलर्ट घोषित किया गया है। दोनों स्टेशनों पर चौकसी बढ़ा दी गई है। हर गतिविधि पर पैनी नजर रखी जा रही है। अफवाह पर ही अलर्ट घोषित किया गया है। अफवाह को भी रेल पुलिस गंभीरता से ली है। हमारा कार्य सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करना है।

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप