पटना [राज्य ब्यूरो]। बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष डॉ. अशोक चौधरी और तीन अन्य विधान पार्षदों के पार्टी छोड़ते ही कांग्रेस में भगदड़ सी मच गई है। रविवार को कांग्रेस के दो जिलाध्यक्ष के अलावा करीब आधा दर्जन नेता जदयू में शामिल हो गए। कांग्रेस को अलविदा कह जदयू में आने वाले नेताओं को डॉ. चौधरी ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई।

इधर प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा, जो लोग पार्टी छोड़ के गए हैं वे कभी भी कांग्रेस के वफादार नहीं रहे। ऐसे लोगों के जाने से पार्टी की सेहत पर कोई असर नहीं पडऩे वाला। 

जदयू का दामन थामने वाले नेताओं में मुंगेर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष सौरभ निधि, मुजफ्फरपुर जिलाध्यक्ष विद्यानंद सिंह, प्रदेश कांग्रेस के सचिव अशोक चौधरी, कुमार सज्जन यादव, रणधीर धारी, प्रवीण कुमार, शहजाद खान, कुदुस अंसारी, रामएकबाल चौधरी आदि शामिल हैं।

 इस मौके पर डा. चौधरी ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्वविहीन हो गई है। कांग्रेस में कार्यकर्ताओं को सम्मान नहीं मिलता, इस वजह से लोग पार्टी छोडऩे को मजबूर हैं। वहीं कादरी ने कहा है कि मुजफ्फरपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष विद्यानंद सिंह ने पार्टी के करीब छह लाख रुपये की हेराफेरी की है। जिसका हिसाब देने के लिए उन्हें कई बार कहा गया, लेकिन उन्होंने नहीं दिया। जिसके बाद उन्हें नोटिस दिया गया था।

Posted By: Ravi Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस