पटना। दशमेश गुरु श्री गुरु गोविद सिंह की जन्मस्थली तख्त श्रीहरिमंदिर जी पटना साहिब में मल्टीमीडिया म्यूजियम का निर्माण अगले वर्ष तक पूरा हो जाएगा। प्रबंधक समिति के अध्यक्ष सरदार अवतार सिंह हित ने बुधवार को बताया कि अगले माह मल्टीमीडिया म्यूजियम की टक यानी नींव रखी जाएगी। मल्टीमीडिया म्यूजियम देश-विदेश से आनेवाले पर्यटकों को सिख धर्म की विस्तृत जानकारी प्रदान करने का सबसे सुगम और बड़ा स्त्रोत बन जाएगा।

50 लाख से अधिक पर्यटकों ने टेका था मत्था

विश्व में सिखों का सबसे बड़ा दूसरा तख्त श्रीहरिमंदिर आत्मिक शांति की खोज में आए देश-विदेश के पर्यटकों के लिए पसंदीदा स्थान बनकर उभर रहा है। वर्ष 2017 में 350 वें प्रकाश पर्व पर लगभग 50 लाख से आए देश-विदेश तथा स्थानीय पर्यटकों ने दशमेश गुरु की जन्मस्थली तख्त श्रीहरिमंदिर में मत्था टेक अरदास कर लंगर छका था। उसके बाद से लाखों पर्यटक पवित्र भूमि पर शीश नवा चुके हैं।

पांच करोड़ से होगा मल्टीमीडिया म्यूजियम का निर्माण

अध्यक्ष सरदार अवतार सिंह हित ने बताया कि पांच करोड़ की लागत से दिल्ली के सरदार विक्रमजीत सिंह सानी मल्टीमीडिया म्यूजियम का निर्माण करेंगे। वे पहले दिल्ली के बंगला साहिब गुरुद्वारा में मल्टीमीडिया म्यूजियम का निर्माण कर चुके हैं। मल्टीमीडिया म्यूजियम अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों को सिख धर्म की विस्तृत जानकारी देने वाला बड़ा स्त्रोत बन जाएगा। इस म्यूजियम में पेंटिग डिजिटल टेक्नोलाजी, स्क्रीन भित्ति-चित्र, चित्रपट तथा विभिन्न भाषाओं के माध्यम से सिख धर्म के मूल सिद्धांतों की जानकारी दी जाएगी। इस संग्रहालय में सिख गुरुओं तथा योद्धाओं के दर्शनशास्त्र तथा उपदेशों पर आधारित फिल्म दिखाई जाएगी।

संग्रहालय में सजेगा सिखों का इतिहास

मीडिया प्रभारी सुदीप सिंह ने बताया कि प्रस्तावित संग्रहालय का डिजाइन कुछ इस तरह तैयार किया जाएगा कि सिखों के धर्म या उनके गुरुओं के महत्व जानने और दिलचस्पी रखने वाले या फिर शोध कार्य में जुटे लोग यहां आकर लाभ उठा सकें। सिखों के गौरवशाली इतिहास को प्रदर्शित करने वाली तथा 350 वें प्रकाशोत्सव व शुकराना समारोह से जुड़ी फिल्में भी दिखाई जाएगी। संग्रहालय में गैलरियां बनाई जाएगी।

Edited By: Jagran