पटना, जेएनएन। बिहार में एनडीए के घटक दलों की तरफ से मकर संक्रांति के अवसर पर दही-चूड़ा के भोज का आयोजन किया गया था, जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत विभिन्न पार्टियों के दिग्गज नेताओं सहित कार्यकर्ता भी शामिल हुए।

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने मकर संक्रांति के मौके पर दही-चूड़ा का भोज अपने 36 हार्डिंग रोड स्थित आवास पर दिया। इसमें चूड़ा-दही के साथ सियासी बातें भी खूब हुईं। सोमवार को किये गये इस आयोजन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, बीजेपी नेता सुशील मोदी, लोजपा नेता रामविलास पासवान, चिराग पासवान से लेकर तमाम दिग्‍गज नेता पहुंचे थे।  

भोज में व्यवस्था की जिम्मेदारी खाद्य आयोग के सदस्य नंदकिशोर कुशवाहा, प्रदेश महासचिव रविन्द्र सिंह, युवा जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह सेतु, प्रदेश महासचिव धीरज सिंह और प्रो. मनोज कुमार सिंह संभाल रहे थे। बड़े पंडाल और लॉन में खाने का इंतजाम था।

प्रदेश अध्यक्ष खुद भी कार्यकर्ताओं से यह आग्रह करते कि दही-चूड़ा खाए बिना नहीं जाना है। कार्यकर्ताओं और अतिथियों ने छक कर दही.चूड़ा का लुत्फ उठाया। कोई दही की तारीफ करता दिखा तो कोई आलू-गोभी की सब्जी पर फिदा था।

मकर संक्रांति के अवसर पर बीजेपी एमएलसी रजनीश कुमार के आवास पर भी चूड़ा-दही भोज का आयोजन किया गया था। इस भोज में भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी, पूर्व मंत्री अशोक चौधरी समेत एनडीए के कई नेता शरीक हुए।सीएम नीतीश कुमार ने बिहारवासियों को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं भी दी।

दूसरी ओर लोजपा द्वारा भी पार्टी ऑफिस में भोज का आयोजन किया गया था। इस भोज में राज्यपाल लालजी टंडन, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी समेत एनडीए के कई नेता जुटे।

वहीं जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह के आवास पर आयोजित दही-चूड़ा भोज को लेकर कहा गया कि ये तो मुहूर्त से पहले ही हो रहा है। इसपर जदयू नेता आरसीपी सिंह ने कहा है कि हमारे लिए मुहूर्त कोई मायने नहीं रखता, हमारे लिए तो 365 दिन एक समान होता है। उन्होंने कहा कि वशिष्ठ नारायण सिंह शुरू से ही 14 जनवरी को ही मकर संक्रांति के भोज का आयोजन करते आए हैं, ये सभी जानते हैं। 

आरसीपी सिंह ने कहा कि एनडीए के नेता और कार्यकर्ता एकसाथ हैं और लोकसभा की 40 सीटों पर एनडीए की ही जीत होगी।

भोज में बन रहे खाने की तैयारी का जायजा लेते हुए वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि ये सिर्फ भोज नहीं बल्कि सामाजिक समरसता का प्रतीक है। भोज में सभी नेता कार्यकर्ता पहुंचे हैं और सब एक साथ मिलकर चूड़ा-दही खाएंगे।

महागठबंधन के नेताओं को निमंत्रण देने की बात पूछे जाने पर नाराजगी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने जिनको बुलाना था, सबको निमंत्रण दिया है। वैसे मैं पक्ष हों या विपक्ष के नेतागण हों सबको मकर संक्रांति की शुभकामनाएं देता हूं। पूरे बिहार की जनता को बधाई देता हूं। इस आयोजन को राजनीति से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। 

वहीं, रालोसपा के बागी विधायक ललन पासवान के घर दही-चूड़ा के भोज का आयोजन किया गया था और इस मौके पर डिप्टी सीएम सुशील मोदी उनके आवास पहुंचे थे। डिप्टी सीएम ने इस दौरान लोगों से बातचीत कर मकर संक्रांति की हार्दिक बधाई दी।

Posted By: Kajal Kumari