पटना, जागरण टीम। Amit Shah BJP Bihar Virtual Rally: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के पूर्व अध्यक्ष व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रविवार को बिहार में बीजेपी की पहली वर्चुअल रैली (Virtual Rally) 'बिहार जनसंवाद' (Bihar Jan Samvad) को संबोधित किया। यह रैली केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर सरकार के काम की रिपोर्ट देने के लिए थी।

उन्‍होंने केंद्र की उपलब्धियों को गिनाते हुए बिहार की नीतीश सरकार की भी सराहना की। कहा कि राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) ने बिहार में जंगल राज से जनता राज तक पहुंचाया। कयासों पर लगाम देते हुए यह भी दुहराया कि एनडीए अगला चुनाव नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में दो तिहाई बहुमत के साथ जीतेगा। विपक्ष द्वारा रैली का विरोध करने पर उन्‍होंने तंज किए तथा रैली के राजनीतिक होने से इन्‍कार किया।

एनडीए के नेतृत्व को ले नीतीश के नाम पर लगाई मुहर

भाजपा की वर्चुअल रैली के जरिए आयोजित 'बिहार जनसंवाद' में रविवार को अमित शाह ने फिर बिहार में एनडीए के नेतृत्व पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नाम की मुहर लगा दी। अमित शाह ने कहा है कि बिहार का नेतृत्व नीतीश कुमार बेहतरीन तरीके से कर रहे हैं। नीतीश और सुशील मोदी की जोड़ी बेमिसाल है। दोनों नेता चुपचाप काम करना जानते हैं और इसके लिए वे सड़क पर खड़े होकर थाली नहीं बजाते हैं।

125 लाख करोड़ के पैकेज का दिया हिसाब

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए 2 सरकार के एक वर्ष पूरे करने पर सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। एनडीए 1 सरकार में प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए 125 लाख करोड़ रुपये के स्पेशल पैकेज का हिसाब दिया। शाह ने हर विभाग के लिए प्रधानमंत्री पैकेज की तरफ से दी गई राशि का विस्तृत आंकड़ा पेश किया। बिहार में किए जा रहे विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि केंद्र सरकार बिहार को विकसित बनाने के लिए हर संभव मदद दे रही है।

कोरोना वॉरियर्स को किया सलाम, मृतकों को दी श्रद्धांजलि

रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने सबसे पहले कोरोना से मृत लोगों को श्रद्धांजलि तथा मरीजों को शुभकामनाएं दीं। साथ ही कोरोना वॉरियर्स को सलाम किया। कहा कि ये रैली कोरोना के खिलाफ जंग है।

1.25 करोड़ प्रवासी श्रमिकों को घर तक पहुंचाया

शाह ने कहा कि कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा कि सभी जगह प्रवासी मजदूरों को सम्मान से रखा जाए और उनके लिए 11 हजार करोड़ रुपये राज्यों को दिए। करीब 1.25 करोड़ प्रवासी कामगारों को हजारों बस और ट्रेनों के माध्यम से उनके घरों तक पहुंचाया गया। भोजन और नास्ता की व्यवस्था की गई, पीने के लिए पानी मुहैया कराया गया। गृह राज्यों में क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था की गई।

'एक देश-एक राशन कार्ड' का निर्णय लिया है। बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और ओडि़शा के कामगार देश के कई हिस्सों में काम करने आते-जाते हैं। इस पहल से अब कामगार अपने हिस्से का राशन, देश में कहीं पर भी रहें वहां से ले सकेंगे।

लालटेन नहीं अब एलईडी बल्‍ब का जमाना

अमित शाह ने कहा कि बिहार ने नरेंद्र मोदी को हमेशा बहुमत दिया है। मोदी सरकार ने कहा था कि सरकार गरीबों के लिए काम करेगी। इसपर कुछ लोगों ने इंदिरा गांधी को कोट करते हुए कहा कि वे भी तो यह कहतीं थीं, लेकिन मोदी जो बोलते हैं, करते हैं। इसके बाद अमित शाह ने विभिन्‍न समाजिक योजनाओं में सरकार की उपलब्धियों की चर्चा की। बताया कि सरकार ने 2.5 करोड़ लोगों को घर दिए, 10 करोड़ घरों में शौचालय बनवाए। आयुष्‍मान के जरिए करोड़ों लोगों ने इलाज कराया। ऊर्जा के क्षेत्र में उपलब्ध्यिों की चर्चा करते हुए कहा कि पहले लालटेन जलानी पड़ती थी, अब लालअेन का जमाना चला गया। आज एलईडी बल्‍ब का जमाना है।

किसानों को दे रहे छह हजार, शुरू किया पेंशन

अमित शाह ने कहा कि मोदी ने 9.5 करोड़ लोगों के खाते में रुपये डाले। किसानों को हर साल छह हजार रुपये दे रहे हैं। उनके लिए पेंशन योजना की शुरुआत की। हमने केवल नारा नहीं दिया, हमने कर दिखाया। हमने एक देश एक राशन कार्ड की बात कही।

आसमान तक पहुंचा दिया भारत का सम्‍मान

अमित शाह ने कहा कि मोदी के कारण भारत का सम्‍मान आसमान तक पहुंचा। आज भारत की सीमाएं पूरी तरह सुरक्षित हैं।

70 साल से विवादित मुद्दों का किया समाधान

कहा कि लोगों ने दोबारा जनादेश दिया तो हमने धारा 370 को खत्‍म कर दिया। हमने कश्‍मीर को भारत से जोड़ने का काम किया। तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाया। 70 साल से विवादित मुद्दों का समाधान किया। नागरिकता संशोधन कानून ले आए। ट्रस्‍ट बनाकर राम मंदिर के निर्माण का रास्‍ता साफ किया।

कोरोना से जंग में जनता ने भी दिया साथ

कोरोना की आपदा पर बोलते हुए शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने काेरोना की वैश्विक लड़ाई लड़ी। देश की 130 करोड़ जनता मोदी के साथ कोरोना के खिलाफ इस जंग में साथ है। पहले माहामारी से केवल सरकार लड़ती थी, इस बार जनता भी सरकार के साथ लड़ी। कोरोना से जंग की चर्चा के दौरान कहा कि बहुत सारे लोगों ने जनता को गुमराह करने की भी कोशिश की।

तेजस्‍वी पर तंज, नीतीश-सुशील मोदी की सराहना

तेजस्‍वी यादव का नाम लिया बिना उन्‍होंने तंज कसा कि बिहार के एक नेता विरोध में बयान दे रहे थे। लेकिन सवाल पूछने वाले यह तो बताएं कि वे कहां थे? विपक्ष को राजनीति करनी है तो करे। लेकिन यह ता बताए कि जब उनके सत्‍ता में रहते समय आपदा आई तो क्‍या किया? परिवारवादी लोग अपना चेहरा देखें। अमित शाह ने काेरोना से जंग में बिहार सरकार के शानदार काम की प्रशंसा की। इसके लिए उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी को बधाई दी तथा कहा कि नीतीश-मोदी विरोध में थाली नहीं बजाते, चुपचाप काम करते हैं।

रैली के विरोधियों पर कसे तंज, कहा- यह चुनावी रैली नहीं

रैली के विरोध में आरजेडी के थाली बजाने के कार्यक्रम पर तंज कसा। लालू परिवार की ओर इशारा करते हुए कहा कि कुछ लोगों ने थाली बजाकर स्‍वागत किया, कुछ लोगों ने रैली को चुनावी बताया, लेकिन कहना चाहता हूं कि यह चुनावी रैली नहीं है। कहा कि आत्‍मनिभर भारत को सफल बनाने के अभियान में हम जुटे हैं। वक्र द्रष्‍टा लोग कुछ भी कहें, हमें हमारे रास्‍ते पर चलते जाना है।

रैली के विरोध में बजाया थाली, उड़ाए काले गुब्‍बारे

रैली के पहले इसके विरोध में आरजेडी ने पूर्वाह्न 11 बजे थाली बजाया। विरोध में कांग्रेस ने काला दिवस मनाया तथा काले गुब्बारे उड़ाए। वामपंथी दलों ने भी विश्वासघात व धिक्कार दिवस मनाया। इस दौरान तेजस्‍वी यादव ने कहा कि डबल इंजन सरकार में गरीब भूखे हैं। बिहार में हाहाकार मचा है। ऐसे में डिजिटल रैली का इस्‍तेमाल कोरोना संक्रमण के काल में परेशान जनता की सहायता में करना चाहिए था। उधर, आरजेडी के कार्यक्रम के विरोध में जेडीयू कार्यकर्ताओं व समर्थकों ने ताली बजाई तथा आरजेडी व लालू परिवार के खिलाफ हाय-हाय के नारे लगाए।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस