पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। बिहार विधानसभा परिसर (Bihar Assembly Campus) से शराब की खाली बाेतलें मिली हैं। इससे सनसनी फैल गई। सियासत भी होने लगी है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने इसको लेकर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) से इस्‍तीफे की मांग कर दी है। उन्‍होंने कहा है कि सीएम के चैंबर से महज सौ मीटर की दूरी पर शराब की बोतलें कैसे मिल गई। जहां बैठे हैं, वहीं शराब की बोतलें मिल रही हैं। सीएम को खुद आकर देखना चाहिए। वरना बाद में वे कहेंगे कि हमने तो देखा ही नहीं। पानी की बोतलें होंगी। तेजस्‍वी ने कहा कि यहीं पर शराबबंदी का संकल्‍प लिया गया था। अब तो शराबबंदी का रियल पिक्‍चर सामने आ गया है। 

इसके लिए सीएम स्‍वयं दोषी 

राजद विधायकों के साथ घूम-घूमकर तेजस्‍वी ने शराब की बोतलें देखीं। उन्‍होंने इसके बाद सीएम नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। कहा कि विधानसभा लोकतंत्र का मंदिर है। यहां कल ही शपथ ली गई थी।  सीएम ने कुछ दिन पहले ही बड़ी समीक्षा की थी, उसका परिणाम यही निकला कि विस परिसर में शराब की कई बोतलें मिलीं। यह पूरी तरह से सीएम नीतीश कुमार की विफलता है। शपथग्रहण बिल्‍कुल नौटंकी है। यदि प्रशासन के लोग मिले नहीं हैं तो यहां कैसे बोतलें आ गईं। आखिरकार गृह मंत्री कहां सोए हुए हैं। कहा कि जब सीएम की गाड़ी चलती है तो एक किलोमीटर दूर तक गाड़‍ियां रोक दी जाती हैं। लेकिन जहां वे बैठते हैं वहां 50 से 100 मीटर की दूरी में बोतलें मिलती हैं तो क्‍या समझा जाए। होम मिनस्‍टर तो सीएम खुद हैं। पुलिस भी उन्‍हीं के अंदर है। उन्‍होंने कहा कि सरकार कोई जवाब नहीं देगी। कहेगी कि यह विपक्ष की साजिश है। हम न बनावटी हैं न मिलावटी हैं। शराब माफिया के सीएम की तस्‍वीर भी हमने देखी हैं। भ्रष्‍टाचार, शराब, अपराध की छूट है। 

पार्किंग एरिया में फेंकी हुई थी कई खाली बोतलें

बताया जाता है कि विधानसभा की पार्किंग एरिया में शराब की खाली बोतलें पड़ी थीं। एक दिन पहले ही सोमवार को विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले दिन मुख्‍यमंत्री समेत अन्‍य लोगों ने शराबबंदी की शपथ ली थी। ऐसे में विस परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलना कई सवाल खड़े करता है। वह भी उस स्थिति में जबकि सत्र चल रहा है। सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम है। ऐसे में बाइक पार्किंग एरिया में कचरे में शराब की कई खाली बोतलें फेंकी हुई थी। गौरतलब है कि सत्र की कार्रवाही शुरू होते ही राजद विधायकों ने परिसर में प्रदर्शन किया। वे शराबबंदी कानून को पूरी तरह फेल बता रहे थे।  राजद के एक विधायक ने कहा कि यह पुलिस प्रोटेक्‍टेड एरिया है जहां परिंदा भी पर नहीं मार सकता। उस जगह पर शराब की बोतलें कैसे मिल रही हैं।  

Edited By: Vyas Chandra