पटना, जेएनएन। बिहार सहित पूरा देश इन दिनों कोरोना के संकट से गुजर रहा है। बिहार की बात करें तो कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 51 तक पहुंच गया है। ऐसे में इसका प्रसार को रोकने के लिए राष्‍ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव तथा उनके बेटे तेज प्रताप यादव ने लोगों को घरों में रहने की नसीहत शायराना अंदाज में ट्वीट कर दी है। लालू यादव ने लिखा है कि कोरोना को हराने के लिए घरों में रहना होगा तो तेज प्रताप ने लिखा है कि मौत से आंख मिलाने की जरूरत ही क्‍या है।

लालू ने ट्वीट कर कहा- बिना किंतु-परंतु घर में आराम करें

गुरुवार को लालू यादव ने ट्वीट किया कि ''जो घर से बाहर निकले उसे टोकना होगा, कोरोना को रोकना है तो अपने कदमों को रोकना होगा।'' उन्‍होंने आगे लिखा है कि लोग बिना किंतु-परंतु घर में आराम करें।

तेज प्रताप ने दी नसीहत- बेवजह घर से निकलने की ज़रूरत क्या है?

उधर, लालू के लाल तेज प्रताप यादव ने भी बेवजह घर से नहीं निकलने की नसीहत अपने अंदाज में दी। उन्‍होंने अपने ट्वीट में एक गजल की कुछ पंक्तियां शेयर की हैं-

बेवजह घर से निकलने की ज़रूरत क्या है,

मौत से आंखें मिलाने की ज़रूरत क्या है।

सब को मालूम है बाहर की हवा है क़ातिल,

यूं हीं क़ातिल से उलझने की ज़रूरत क्या है।

ज़िन्दगी एक नेमत है उसे सम्भाल के रखो

श्‍मशानों को सजाने की जरूरत क्‍या है।

रांची के अस्‍पताल में इलाज करा रहे लालू प्रसाद यादव

विदित हो कि लालू प्रसाद यादव इन दिनों चारा घोटाला के मामलों में रांची के जेल में सजा काट रहे हैं। फिलहाल वे तबीयत खराब रहने के कारण रांची के रिम्‍स (अस्‍पताल) में इलाज करा रहे हैं।

बाहर फंसे कोरोना पीडि़तों की मदद में जुटे तेज प्रताप

लालू के लाल तेज प्रताप इन दिनों कोरोना संकट में फंसे बिहार के लोगों की मदद करने में जुटे हैं। गुरुवार को भी उन्‍होंने ट्वीट कर लुधियाना (Ludhiana) में फंसे अपने विधानसभा क्षेत्र के एक मजदूर परिवार के लिए पंजाब के मुख्‍यमंत्री (CM of Punjab) कैप्‍टन अमरिंदर सिंह (Capt. Amarinder Singh) से मदद मांगी है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस