पटना [राज्य ब्यूरो]। राष्ट्रपति चुनाव के एक दिन पहले राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने विधायकों को चालाक लोगों से सावधान रहने की नसीहत दी। तेजस्वी यादव के मुद्दे पर बोलने से परहेज किया, लेकिन इशारों में जदयू पर तंज कसा।

 

विधायकों को चालाकी से बचने की सलाह देते हुए कहा कि चालाक लोग ऊपर से टोपी और नीचे से पैजामा पहनाने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे लोगों से सावधान रहना है। होटल मौर्य में लालू रविवार को राजद-कांग्र्रेस विधायकों की संयुक्त बैठक को संबोधित कर रहे थे। 

 

यूपीए प्रत्याशी मीरा कुमार के पक्ष में विधायकों को एकजुट रहने का हिदायत देते हुए लालू ने कहा कि जिसका वोट गड़बड़ाएगा, अगले चुनाव में उसका टिकट गड़बड़ा जाएगा। लालू ने अपने स्टैंड पर अडिग रहने का संकल्प दोहराया और कहा कि हम सिद्धांतों से समझौता नहीं करते।

 

18 दलों ने मिलकर बिहार की बेटी मीरा कुमार को प्रत्याशी बनाया है। हार-जीत अपनी जगह होती है। हम बार-बार निर्णय नहीं बदलते। जदयू का नाम लिए बगैर लालू ने कहा कि बहुत सारे दल बोलकर मुकर गए हैं।

 

अपने खेमे के विधायकों को कन्फ्यूजन से बचने की सलाह देते हुए लालू ने कहा कि सरकार महागठबंधन की है, लेकिन इसका अहम अंग जदयू, भाजपा को वोट करेगा। इसमें कनफ्यूज मत होना। जो कनफ्यूजन में रहता है, वह बार-बार धोखा खाता है। देश-प्रदेश की जनता को मालूम है। 

 

लालू ने महागठबंधन का मकसद भी बताया। कहा कि भाजपा का सफाया करने के लिए बिहार में महागठबंधन बनाया था। सिद्धांतों से मुकरने के लिए नहीं। बिहार की जनता ने एकजुट होकर नरेंद्र मोदी को विदा किया। हम पीछे हटने वाले नहीं। लालू ने भाजपा पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि हमें परिवार समेत बर्बाद करने की साजिश की जा रही है, किंतु हम बंदरघुड़की से डरने वाले नहीं हैं।

 

कांग्र्रेस, तृणमूल कांग्र्रेस, आप, सपा, बसपा एवं राजद सबको बर्बाद करने का षड्यंत्र रचा गया है। मायावती, केजरीवाल, अखिलेश एवं परिवार समेत हमें बदनाम किया जा रहा है। बैठक में डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव, कांग्र्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी, सदानंद सिंह समेत कई विधायक शामिल थे। 

 

विधायकों को पढ़ाया 

लालू ने विधायकों को वोट करने का तरीका बताया। कहा कि आइकार्ड लेकर आपलोग 10 बजे पहुंच जाइए। सिर्फ दो ही उम्मीदवार हैं। पहला नंबर पर मीरा कुमार और उसके बाद कोविंद हैं। कलम-मोबाइल नहीं ले जाना है। लालू ने यह भी बताया कि बैलेट पेपर में कलम से कहां टिक लगाना है। कहां नहीं। दिक्कत होने पर तैनात अधिकारियों से मदद मांगना है। मीरा कुमार को जिताना है। 

 

राजद का नहीं बदला स्टैंड 

इसके पहले राबड़ी देवी के आवास पर राजद विधायकों की बैठक में साफ कर दिया गया कि तेजस्वी के मुद्दे पर राजद का स्टैंड वही होगा जो पहले था। हालांकि बैठक के बाद बाहर निकले मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने तेजस्वी के मुद्दे पर किसी चर्चा से इन्कार किया, लेकिन उन्होंने कहा कि राजद विधानमंडल दल के फैसले पर अटल है। पहले लिए गए फैसले में कोई बदलाव नहीं होगा। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस