राज्य ब्यूरो, पटना : कोर्ट में पेशी के लिए दिल्ली से आए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पटना में जीप चलाकर घिरते जा रहे हैं। जदयू के प्रदेश प्रवक्ता अरविंद निषाद ने गुरुवार को कहा कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने एक समय अपनी जीप कर्पूरी ठाकुर को देने से इनकार कर दिया था। वहीं आज वह कह रहे कि वे कर्पूरी ठाकुर को अपनी जीप पर घुमाते थे। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि यह वाकया सभी को पता है। उस समय विधानसभा की कार्यवाही चल रही थी। तब जननायक कर्पूरी ठाकुर विपक्ष के नेता हुआ करते थे। तब शिवनंदन पासवान सदन की अध्यक्षता कर रहे थे। दोपहर में जब कर्पूरी ठाकुर को भूख लगी तो उन्होंने शिवनंदन पासवान से यह पैरवी कराई कि लालू प्रसाद उन्हें कुछ देर के लिए अपनी जीप दे दें। शिवनंदन पासवान ने अपनी सीट से ही कागज पर एक नोट लिखा कि कर्पूरीजी को घर जाना है, आप उन्हें अपनी जीप दे दीजिए। उसी नोट पर लालू प्रसाद ने यह लिख दिया कि मेरी जीप में तेल नहीं है। कर्पूरीजी दो बार मुख्यमंत्री रहे हैं, अपनी कार क्यों नहीं खरीद लेते! 

गौरतलब है कि बिहार की बांका कोषागार से संबंधित चारा घोटाला के मामले में पटना सीबीआइ कोर्ट में मंगलवार को लालू प्रसाद यादव पेश हुए थे। बुुुधवार को अपनी पुरानी जीप चलाते हुए उनका एक वीडियो वायरल हुआ था। खुली जीप को ड्राइव करते हुए वह राबड़ी देवी के सरकारी आवास से निकल कर पास में राजेंद्र प्रसाद की मूर्ति की परिक्रमा कर लौट आए थे। लालू के जीप की स्टेरिंग संभालने के बाद से ही राज्य में सियासत तेज हो गई थी। जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने मोटर वाहन अधिनियम के प्रविधानों का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए पूछा था कि क्या लालू के पास गाड़ी चलाने का लाइसेंस है? नीरज ने कहा था कि लालू रोड पर ऐसी गाड़ी चला रहे हैं जिसे नियम के अनुसार सड़क पर ही नहीं होना चाहिए। 

Edited By: Akshay Pandey