मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

पटना [काजल]। लगभग पांच महीने पहले 12 मई को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव-राबड़ी देवी ने अपने बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी काफी धूमधाम से चंद्रिका राय की बेटी एेश्वर्या राय के साथ की थी। ये पटना क्या पूरे बिहार के लिए एक शाही शादी थी, जिसे लेकर कई दिनों तक इसकी चर्चा आम और खास लोगों के बीच होती रही। शादी के लिए सजाए गए घर के गेट पर नींबू-मिर्च की सजावट की गई थी और गेट में काला कपड़ा बांधा गया था कि किसी की नजर ना लगे, लेकिन फिर भी बुरे वक्‍त को ज्‍यादा समय दूर नहीं रखा जा सका। महज सात माह के अंदर यह शादी कोर्ट के फेर में फंस चुकी है और तेजप्रताप ने प्रताडि़त का आरोप लगाते हुए एेश्वर्या से तलाक की अपील की है। 

तेजप्रताप ने कहा-मैं घुट-घुटकर नहीं जी सकता 
शादी के वक्त यह दावा किया जा रहा था कि ऐश्वर्या राय के लालू परिवार में आने से सब कुछ बदल सा जाएगा और तेज प्रताप यादव का राजनीतिक करियर और भी आसमान छुएगा। लेकिन सारी बातें धरी रह गईं। शादी के कुछ महीने बाद ही तेजप्रताप यादव ने कहा कि वो एेश्वर्या के साथ नहीं रहना चाहते। तेजप्रताप ने अपनी अर्जी में पत्नी ऐश्वर्या पर प्रताड़ना का एक तरफा आरोप लगाया है।

तेजप्रताप ने कहा है कि मैं घुट-घुटकर नहीं जी सकता। मैंने अर्जी दे दी है और मुझे अब एेश्वर्या के साथ नहीं रहना है और ये मेरा निजी फैसला है, किसी को इस मामले में हायतौबा नहीं मचानी चाहिए। अब तीर कमान से निकल चुका है। 

पिछले शुक्रवार को निधिवन से किया था फेसबुक लाइव
शुक्रवार को निधिवन से फेसबुक से लाइव करने वाले वृंदावन से लौटे तेजप्रताप ने शुक्रवार को हिन्दू मैरेज एक्ट 13 (1A) के तहत प्रधान न्यायाधीश, परिवार न्यायालय, पटना की अदालत में पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक़ की याचिका 1208/18 दायर कर दी है। कोर्ट ने उनकी याचिका स्वीकार भी कर ली है और 29 नवंबर को तलाक़ की अर्ज़ी पर सुनवाई होनी तय हुई है।

मथुरा, वृंदावन की ब्रज यात्रा के दौरान एक हफ़्ते पहले निधिवन से फ़ेसबुक लाइव में राधा-कृष्ण की रासलीला के बारे में बताते हुए उन्‍होंंने अपनी तलाक की अर्जी का भी खुलासा किया था। इस दौरान उन्‍होंने कहा था कि एक सप्‍ताह बाद ही वह तलाक के लिए अर्जी दाखिल कर देंगे। ऐसा किसी ने सोचा भी नहीं होगा।

तेज प्रताप ने कहा - मुझे जि‍स राधा की तलाश, वह ऐश्वर्या नहीं
पटना से रांची जाते समय पत्रकारों ने कई जगह तेज प्रताप को घेरा और इस संबंध में सवाल किये। एक जगह पर उन्होंने कहा कि वो कृष्ण हैं और राधा की तलाश में भटक रहे हैं। उन्होंने कहा कि पत्नी ऐश्वर्या उनकी राधा नहीं है। इसलिए वो अब उनसे अलग होना चाहते हैं।

तलाक की वजह कहीं ये तो नहीं....
पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक तेजप्रताप स्वाभाव से काफी धार्मिक हैं। कृष्ण भगवान की पूजा के साथ वे कन्हैया बनकर अक्सर सामने आते रहे हैं। मंदिर में घंटों समय बिताना, एकांत में बांसुरी बजाना, शिव का रूप धरना आदि उन्हें काफी पसंद है। माथे पर त्रिपुंड लगाए, कभी मोरपंख से जड़ा मुकुट पहने कभी सार्वजनिक मंच पर पगड़ी बांध कर बांसुरी बजाने लग जाने वाले तेज प्रताप खु़द को कृष्ण का अनन्य भक्त बताते हैं।

व्यक्तिगत तौर देखें तो तेज प्रताप यादव की पढ़ाई-लिखाई कथित तौर पर बीएन कॉलेज, पटना से बारहवीं तक ही हुई है। जबकि ऐश्वर्या राय ने पटना के नॉट्रेडैम एकेडमी से बारहवीं तक की पढ़ाई करने के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस से स्नातक किया है। उन्होंने एमिटी यूनिवर्सिटी से मास्टर्स की डिग्री भी हासिल की है। शादी के बाद तेज प्रताप और ऐश्वर्या कभी सार्वजनिक तौर पर सामने नहीं आए, सिवाय साइकल वाली उस इकलौती तस्वीर के।

हालांकि, स्थानीय मीडिया में ये ख़बरें ज़रूर उड़ती रहीं कि ऐश्वर्या राय मायके रह रही हैं। इधर तेज प्रताप यादव के सोशल मीडिया अकाउंट से उस दौरान कई बार ऐसे अपडेट किए गए जिसमें वो पटना से दूर दूसरे राज्यों के धार्मिक स्थानों पर देखे गए। इसमें मथुरा और वृंदावन उनकी पसंदीदा जगहें रही हैं जहां वे एक से ज़्यादा बार भी गए।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी साइकिल वाली तस्वीर 
शादी के बाद तेज प्रताप यादव ने सोशल मीडिया पर एक पत्नी ऐश्वर्या राय के साथ एक तस्वीर डाली थी जो काफ़ी वायरल भी हुई। साइकल पर ऐश्वर्या को आगे बिठाए दिख रहे तेज प्रताप यादव ने तस्वीर के कैप्शन में पत्नी के लिए प्रेम का इज़हार किया था। लेकिन तेज प्रताप यादव के तलाक की अर्ज़ी दाखिल करने की ख़बर मीडिया में आने के बाद लोग इसे लेकर तमाम तरह के क़यास लगा रहे हैं। 

शादी के 10-15 दिनों बाद से ही तेज-एेश के बीच हो रही थी खटपट
सूत्रों का कहना है कि शादी के 10-15 दिन बाद से ही तेज प्रताप और उनकी पत्नी ऐश्वर्या के बीच खटपट शुरू हो गयी थी। बताया जाता है कि ऐश्वर्या तेज प्रताप की राजनीतिक महत्वाकांक्षा को हवा दे रही थी। कहा जा रहा है कि ऐश्वर्या-तेज प्रताप करीब चार महीने से अलग-अलग रह रहे थे। धर्म के प्रति तेज प्रताप का  ज्यादा झुकाव भी इस रिश्ते पर असर का मुख्य कारण माना जा रहा है। शादी के बाद दोनों हनीमून पर भी नहीं गये थे।

राबड़ी आवास में मची थी शादी की धूम
राबड़ी ने काला चश्मा पहन बेटियों के साथ खूब डांस किया था। सभी काफी खुश थे। शादी के लिए चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पेरॉल पर रांची से पटना आए थे। शादी में आम और खास लोग जुटे थे और वर-वधू को आशीर्वाद दिया था। तब लालू यादव ने कहा था कि एेश्वर्या के कदम शुभ हैं और वो हमारे लिए लकी साबित होगी।

बहू को बताया था-लछमिनिया
वहीं राबड़ी देवी बेटे की शादी से बहुत खुश थीं और उन्होंने खुद की पसंद की बहू की तलाश की थी। राबड़ी ने अपनी बहू को लछमिनिया बताया था और कहा था कि मेरी बहू बहुत संस्कारी है। बता दें कि ऐश्वर्या भी बिहार के जाने माने सियासी घराने से आती हैं। वह पूर्व मुख्यमंत्री दारोगा प्रसाद राय की पौत्री हैं।

 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप