पटना [जागरण टीम]। सावन की तीसरी सोमवारी को बिहार के विभिन्‍न मंदिरों में शिवभक्‍तों का तांता लगा हुआ है। उधर, रविवार को भागलपुर के सुल्‍तानगंज से उत्‍तरवाहिनी गंगा का जल लेकर गए दो लाख से अधिक कांवड़िये सुबह से ही झारखंड के देवघर स्थित शिव मंदिर में जलार्पण कर रहे हैं। वहीं, मुजफ्फरपुर के प्रसिद्ध बाबा गरीबनाथ मंदिर में जलाभिषेक के दौरान सुबह के पहले भगदड़ मच गई, जिसमें कई भक्‍त घायल हो गए। बिहार के अन्‍य शिव मंदिरों में भी जनभिषेक के लिए शिव भक्‍तों का तांता लगा हुआ है।
सुल्‍तानगंज से गंगाजल लेकर बाबाधाम पहुंचे कांवड़िया
रविवार को भागलपुर के सुल्‍तानगंज के अजगबीनाथ स्थित उत्तरवाहिनी गंगा से जल लेकर दो लाख से अधिक कांवड़िया बाबा नगरी देवघर पहुंचे हैं। देवघर स्थित बाबाधाम में कांवड़ियों का आना अनवरत जारी रहता है, लेकिन सोमवार को वहां अधिक भीड़ देखी जाती है। डाक कांवड़िया आधाी रात से ही आने लगे थे। सोमवार को सुबह से वहां शिव भक्तों की लबी कतार लगी हुई है। मंदिर परिसर से लगभग 12 किमी से अधिक लंबी लाइन लगी है।
अजगबीनाथ में मनोकामना शिवलिंग पर जलाभिषेक
इसके पहले रविवार को उत्तरवाहिनी गंगा तट पर डाक कांवड़ियों का जन-सैलाब उमड़ पड़ा। बिहार समेत अन्य राज्यों से आए डाक कांवड़िया सुल्तानगंज पहुंचे। देर रात से ही मेला क्षेत्र में कांवड़ियों का आगमन शुरू हो गया था। डाक कांवड़ियों के अलावा दो लाख से अधिक सामान्य कांवड़ियों ने भी गंगा में आस्था की डुबकी लगाई और देवघर रवाना हुए। इस दौरान लगभग 50 हजार से अधिक भक्तों ने अजगबीनाथ के मनोकामना शिवलिंग का जलाभिषेक किया।

अजगबीनाथ मठ के महंत प्रेमानन्द गिरि महाराज ने बताया कि मनोमकामना शिवलिंग के दर्शन मात्र से ही समस्त बाधाओं से मुक्ति मिलती है। मनोकामना शिवलिंग का दर्शन किए बिना बाबा वैद्यनाथ की कांवड़ यात्रा अधूरी मानी जाती है। पंडितों की मानें तो इस बार तीसरी सोमवारी पर कई वर्षों के बाद दुर्लभ संयोग बन रहा है। सोमवारी को लेकर अजगबीनाथ मंदिर में भी विशेष तैयारियां की गई हैं।
सुल्‍तानगंज में पूजा कर देवघर गईं कृष्णा बम
शिव भक्ति की पर्याय बन चुकीं मुजफ्फरपुर निवासी कृष्णा बम सोमवार को बाबाधाम में जलाभिषेक की। वे रविवार को डाक कांवड़िया का संकल्प लेकर देवघर रवाना हुई थीं। इससे पूर्व सुल्तानगंज गंगा घाट पर उन्होंने स्नान किया और बाबा अजगबीनाथ मनोकामना लिंग पर जलाभिषेक, पूजा-अर्चना की। इस दौरान कृष्णा बम का पैर छूकर आशीर्वाद लेने वालों की भीड़ लग गई। उन्हें पुलिस सुरक्षा के बीच देवघर रवाना किया गया।

कृष्णा बम ने कहा कि हर साल श्रावणी मेले में कांवड़ियों की भीड़ में इजाफा हो रहा है। राज्य सरकार को इस ओर ध्यान देना चाहिए। व्यवस्था में व्यापक बदलाव हुआ है, लेकिन मूलभूत सुविधाओं की कमी रह जाती है। उन्होंने घाटों पर फिसलन देख नाराजगी जाहिर की।
बाबा गरीबनाथ में मची भगदड़, कई घायल
इस बीच सोमवार को शिव मंदिरों में जलाभिषेक के लिए कांवड़ियाें का तांता जगा हुआ है। सुबह से ही कांवड़िया मुजफ्फरपुर में बाबा गरीबनाथ का जलाभिषेक कर रहे हैं। यह सिलसिला देर रात से जारी है। देर रात करीब दो बजे अचानक गेट खुलने के कारण यहां भीड़ बेकाबू हो गई। इस दौरान मची भगदड़ में कई कांवड़िया गिरकर घायल हो गए। सोमवार की सुबह जिला स्कूल के पीछे का गेट कांवड़ियाें के दबाव से टूट गया। मंदिर प्रबंधन के मुताबिक, देर रात तक डेढ़ लाख से अधिक कांवड़ियाें ने बाबा का जलाभिषेक किया। इसके पूर्व, बाबा गरीबनाथ के जलाभिषेक के लिए कांवड़ियाें का आना शनिवार को शुरू होकर रविवार देर रात तक जारी रहा।

शिवालयों में श्रद्धालुओं का जन-सैलाब
तीसरी सोमवारी पर पूरे बिहार में शिवालयों में श्रद्धालुओं का जन-सैलाब उमड़ पड़ा है। इसे देखते हुए पटना सहित पूरे प्रदेश के प्रमुख शिवालयों में विशेष इंतजाम किए गए हैं। शिवभक्त इसके लिए रविवार से ही तैयारी में जुटे रहे। प्रसाद और फूलों की दुकानों पर श्रद्धालुओं की भीड़ दिखी। लोगों ने बेलपत्र की भी जमकर खरीदारी की।
सोमवारी पर बन रहे शुभ योग
पंडितों की मानें तो इस वर्ष सावन में चारों सोमवार बहुत ही अद्भुत संयोग में हैं। सावन में दो सोमवार कृष्ण पक्ष में और दो शुक्ल पक्ष में हैं। दो सोमवार को सोम प्रदोष व्रत तथा तीसरे सोमवार को बेहद कल्याणकारी नागपंचमी है।
बोल बम के नारे से गूंजे प्रदेश के शिवालय
सावन की तीसरी सोमवारी पर पटना सहित प्रदेश के सभी शिवालय बोल बम और हर-हर महादेव के जयकारे से गूंजायमान हैं। सुबह से ही जलाभिषेक करने के लिए शिवभक्तों की लंबी लाइन मंदिरों के बाहर देखी जा रही है। थी। सोमवारी पर संभावित भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हें। । मंदिरों के बाहर और मुख्य मार्गों पर दंडाधिकारी और सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं। साथ ही कई स्वयंसेवी संस्थाएं भी सेवा भाव का परिचय देते हुए शिवालयों में श्रद्धालुओं की सेवा में लगीं हैं।
पूरे बिहार में दिख रहा आस्था का जन सैलाब
पटना के अलावा बिहार के विभिन्‍न भागों में भी आस्था का जन सैलाब फूटता दिख रहा है। लखीसराय के अशोक धाम में सोमावरी को भारी भीड़ दिख रही है। हर तरफ बोल बम के नारे लग रहे हैं। लोग दूर-दूर से पैदल पांव और अपने साधनों से पहुंचकर विशाल शिवलिंग का जलाभिषेक कर रहे हैं।

औरंगाबाद जिले में सावन की पहली सोमवारी को शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है। प्रखंड के देवकुली शिव मंदिर एवं पुनपुन नदी के तट पर सतियाड़े शिव मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ पहुंचने का सिलसिला जारी है।
मधेपुरा के प्रसिद्ध सिंहेश्वर धाम में पूजा को श्रद्धालुओं की  भीड़ उमड़ पड़ी है। शेखपुरा में सावन की पहली सोमवारी को जिला में सभी जगह हर-हर महादेव का जयघोष हो रहा। जिले के सभी शिव मंदिरों में सुबह से भक्तों का तांता लगा है। राजगीर में मठ मंदिरों की नगरी राजगीर के विभिन्न शिवालयों में श्रावणी माह के  सोमवारी के दिन शिवभक्तों की भीड़ पूजा अर्चना के लिए भीड़ उमड़ रही है।
कैमूर जिला मुख्यालय भभुआ सहित भगवानपुर, अधौरा, चैनपुर, चांद, रामपुर, दुर्गावती, मोहनियां, कुदरा, रामगढ़, नुआंव प्रखंड मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित शिव मंदिरों में सावन माह के सोमवारी को श्रद्धालुओं की भीड़ सूर्योदय होते ही उमड़ रही है। छपरा में भगवान भोलेनाथ को जलाभिषेक व पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं का हुजूम शिवालयों में ब्रह्ममुहूर्त में ही पहुंच गया। सोनपुर के प्राचीन बाबा हरिहरनाथ मंदिर से लेकर छपरा के प्रसिद्ध धन्नी धर्मनाथ मंदिर तक हर हर महादेव से गूंज रहे हैं।
मधुबनी के पंडौल के प्रसिद्ध उगना शिवालय पर जलाभिषेक को शिवभक्त सुबह से कतारबद्ध हैं। मधुबनी के जयनगर के शिलानाथ शिवालय, बिस्फी के भैरवा शिवालय व अंधराठाढ़ी के मदनेश्वर स्थान महादेव मंदिर
में भी दर्शन-पूजन को भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी है। बेतिया के सागर पोखरा शिव मंदिर व कालीबाग मंदिर में सोमवारी पर जलाभिषेक को श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप