style="text-align: justify;"> पटना [जेएनएन]। बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री व हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा (हम) के सुप्रीमो जीतनराम मांझी ने विपक्षी महागठबंधन में आने के बाद दो विधान परिषद सीटों की मांग की है। कहते हैं कि राजद के साथ आकर वे खुश हैं। उन्‍होंने कांग्रेस के नेतृत्‍व में विपक्ष की मजबूती की आशा की। मांझी आज सोनिया गांधी द्वारा आयोजित विपक्षी नेताओं के डिनर में शामिल होने जा रहे हैं।
बोले: पार्टी चलाने के लिए पद जरूरी
राजग से महागठबंधन में आए जीतनराम मांझी अब अपनी स्थिति मजबूत करने की नीति पर चल रहे बताए जा रहे हैं। महागठबंधन में विधान परिषद की दो सीटों की मांग को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है। मांझी के अनुसार वे पद की लालसा नहीं रखते। व्‍यक्तिगत तौर पर राज्‍यसभा सीट नहीं मिलने से वे नाराज नहीं हैं। लेकिन, पद पार्टी की जरूरत है। पद नहीं रहने पर वे पार्टी नहीं चला सकते।
सोनिया के डिनर में होंगे शामिल
मांझी ने कहा कि वे अपने स्‍तर से कोई मांग नहीं करेंगे, लेकिन जब पूछा जाएगा तो दो सीटें जरूर मांगेंगे। मांझी भाजपा के मुकाबले में विपक्षी एकजुटता में भूमिका निभाना चाहते हैं। इसके लिए वे यूपीए की अध्‍यक्ष सोनिया गांधी की तरफ से 13 मार्च को आयोजित विपक्ष के नेताओं के डिनर में शामिल होने जा रहे हैं। इस डिनर के लिए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेजस्‍वी यादव को भी निमंत्रण मिला है।
विपक्षी एकता में रहेगी भूमिका
विदित हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा को घेरने के लिए कांग्रेस ने विपक्षी एकजुटता की मुहिम शुरू की है। बिहार में राजद व हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा की भूमिका रहेगी।

By Amit Alok