पटना [स्‍टेट ब्यूरो]। राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) के प्रयास के बाद बिहार में महागठबंधन (Grand Alliance) से नाराज चल रहे हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा (HAM) सुप्रीमो जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) अंतत: मान गए हैं। पिछले कुछ दिनों से समन्वय समिति (Coordination Committee) की मांग को लेकर नाराज चल रहे मांझी अब बुधवार को पटना में हो रहे महागठबंधन और वाम दलों (Left Parties) के केंद्र की नरेंद्र मोदी  सरकार Narendra Modi Government) व राज्‍य की नीतीश सरकार (Nitish Government) विरोधी प्रदर्शन में शामिल होंगे।

कुशवाहा ने की मांझी ने मुलाकात

आरएलएसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने मंगलवार को जीतन राम मांझी ने उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की। तकरीबन आधे घंटे की इस मुलाकात के दौरान कुशवाहा ने उन्हें आश्वस्त किया कि वे समन्वय समिति को लेकर घटक दलों में सहमति बनाने की कोशिश करेंगे। उन्होंने मांझी को अपनी नाराजगी दूर कर सरकार विरोधी प्रदर्शन में शामिल होने का निमंत्रण भी दिया।

मनाने पर अंतत: मान गए मांझी

कुशवाहा के मनाने के बाद मांझी ने अपना गुस्सा छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि वे नाराज नहीं हैं, समन्वय समिति गठन की उनकी मांग पूरी तरह से जायज है। गठबंधन के दूसरे सहयोगी दल भी इसके लिए सहमत हैं। उन्होंने कहा कि सहयोगी दलों में तालमेल के लिए समिति का गठन जल्द से जल्द होना चाहिए। इधर, पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वे बुधवार को महागठबंधन और वामदलों के संयुक्त प्रदर्शन में शामिल होंगे उन्होंने इसके लिए अपनी सहमति उपेंद्र कुशवाहा को दे दी है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप