पटना [जेएनएन]। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी एक बार फिर अपने बयानों को लेकर चर्चा में आ गए हैं। उन्होंने एनडीए को नागराज तो महागठबंधन को सांपराज कह दिया है। हम के मुखिया जीतनराम मांझी के मीडिया में आए इस बयान के बाद राजद इससे बचते नजर आए। बता दें कि वर्तमान में मांझी की पार्टी हम बिहार महागठबंधन में महत्वपूर्ण घटक दल है। 

दरअसल जीतनराम मांझी ने एक राजनीतिक कार्यक्रम के दौरान मीडिया के पूछ जाने पर कह दिया कि एक है नागराज और एक है सांपराज। मांझी का इशारा एनडीए नागराज और महागठबंधन सांपराज की ओर था। उन्होंने यह भी कहा कि नागराज के फुफकारने से लोग मर जाते हैं, जबकि सांपराज के डंसने के बाद भी मंतर से उसका विष उतार दिया जाता है। 

इधर इस बाबत जब पत्रकारों ने राजद को घेरा तो पार्टी प्रवक्ता इससे बचते नजर आए। राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय​ तिवारी ने कहा कि जीतनराम मांझी महागठबंधन के सम्मानित नेता हैं और उनका इशारा जदयू की ओर होगा।     

बता दें कि कल हम पार्टी के ही वरीय नेता व प्रदेश अध्यक्ष वृषिण पटेल ने कहा था कि राजनीतिक दल के होने के नाते सबको यह अधिकार है कि वह अपने लिए अधिक से अधिक सीट के दावे करे। परन्तु, इसके पहले सभी दल को अपनी ताकत और हैसियत का अंदाज भी करना चाहिए कि उनकी स्थिति कैसी है। सिर्फ सीटें हासिल करने से कुछ नहीं होता, जीत भी दर्ज करानी होती है। 

पटेल ने यह भी कहा कि सीटों के मसले पर गठबंधन के सभी सहयोगियों को उदारता दिखानी होगी, क्योंकि हमारा मकसद देश को खतरे से बचाना और लोकतंत्र की रक्षा करना है। उन्होंने कहा कि हम चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। लेकिन यदि हमारी पार्टी को सम्मानजनक सीटें नहीं मिलीं तो पार्टी चुनाव नहीं लड़ेगी। 

Edited By: Rajesh Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट