पटना, जेएनएन। बिहार में शिवहर से JDU विधायक शर्फुद्दीन अपनी एक करतूत की वजह से सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बने हुए हैं। उनकी एक तस्वीर सोशल मीडिया में सुर्खियां बटोर रही हैं, लेकिन तस्वीर को लेकर शर्म करो, शर्म करो जैसी बातें कहीं जा रही है। तस्वीर में साफ दिख रहा है कि वो सबके बीच किस ढिठाई से खड़े हैं।

तिरंगे का किया अपमान, नहीं दी सलामी

दरअसल, शिवहर से जेडीयू विधायक शर्फुद्दीन की जो तस्वीर वायरल हो रही हैं उसमें वे तिरंगे झंडे को सलामी देते समय अपने गाल पर हाथ रखे हुए हैं। तस्वीर को देखने से साफ पता चल रहा कि न तो उनके चेहरे पर शिकन है और न ही कोई शर्मिंदगी का भाव। तस्वीर में अन्य अधिकारी, नेता और कर्मी जहां झंडे को सलामी दे रहे हैं, उसी बीच में वे बिल्कुल ढिठाई से ऐसे गाल पर हाथ रखे हुए हैं, जैसे वे कह रहे हों कि हम तिरंगे झंडे से कोई मतलब ही नहीं।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीर, विधायक ने दी सफाई

जदयू विधायक शर्फुद्दीन के  राष्ट्रीय ध्वज (National Flag) का अपमान करने वाली इस तस्वीर सामने आने के बाद सूबे में सियासी माहौल गर्मा गया है। सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल होने के बाद अब विधायक ने अजीबो-गरीब सफाई पेश की है।

उन्होंने कहा कि उनके गाल पर कोई कीड़ा बैठ गया था तभी मैंने अपना हाथ गाल पर रखा था और इसी दौरान किसी ने तस्वीर खींच ली और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। हालांकि विधायक (MLA) की ये सफाई किसी के गले नहीं उतर रही है, लेकिन JDU उनके बचाव में खड़ी हो गई है। हालांकि, विरोधी दल राष्ट्रध्वज के अपमान को गंभीर मुद्दा मान रहे हैं।

जदयू ने किया बचाव, राजद-कांग्रेस ने की खिंचाई

इसके बाद जेडीयू विधायक ने यह भी कहा कि मैं नीतीश कुमार का सिपाही हूं और देश का वफादार हूं।हिन्दुस्तान में पाकिस्तान से ज्यादा मुसलमान है और देश का हर मुसलमान देश के लिए छाती पर गोली खाने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि गाल पर कीड़ा बैठ गया था इसलिए हाथ रख लिया था।

राजद ने शर्फुद्दीन की नीयत पर सवाल उठाते हुए जदयू से कार्रवाई करने की मांग की है। पार्टी के प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने कहा कि विधायक शर्फुद्दीन को जनता से माफी मांगनी चाहिए। ये राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने का मामला है इसलिए पार्टी को शर्फुद्दीन पर कार्रवाई करनी चाहिए।

वहीं, कांग्रेस पार्टी ने भी जेडीयू विधायक की इस करतूत को गंभीर बताया है। पार्टी के प्रवक्ता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा, ये उस पार्टी के विधायक हैं जो आज सबसे बड़ी देशभक्त बनी है और जो तिरंगा को सम्मान नहीं दे सकता वो दूसरों को क्या देगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस पर संज्ञान लेकर कार्रवाई करनी चाहिए जिससे जेडीयू की देशभक्ति साबित हो।

विपक्ष के हमलावर तेवर के बीच जेडीयू अपने विधायक के बचाव में उतर आई है। पार्टी के प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि शर्फुद्दीन ने अपनी तरफ से सफाई दे दी है, इसलिए इसपर कुछ भी कहना अब उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए बेवजह इस मुद्दे को उठा रही है। विपक्ष को बोलने का कोई हक नहीं है।

ये है मामला

बता दें कि 15 अगस्त को राष्ट्रीय ध्वज फहराने के क्रम में दी जा रही सलामी में जेडीयू विधायक अपने गाल पर हाथ रखकर चिंतन मुद्रा में दिखाई दे रहे हैं। यही तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और इसी तस्वीर के सामने आने के बाद बिहार की सियासत में जेडीयू विधायक सबके निशाने पर हैं।

 

Posted By: Kajal Kumari