पटना, जेएनएन। राजधानी के सिने प्रेमियों का इंतजार अब बस खत्म होने वाला है। बस चंद घंटे बाद 10वें जागरण फिल्म फेस्टिवल का आगाज हो जाएगा। राजधानी के पाटलिपुत्र इंडस्ट्रीयल एरिया स्थित पीएनएम मॉल के सिनेपोलिस में शाम छह बजे श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा जागरण फिल्म फेस्टिवल का विधिवत उद्घाटन करेंगे। उनके साथ हिंदी फिल्मों के मशहूर अभिनेता विनय पाठक भी होंगे। वे दर्शकों से रूबरू भी होंगे।

रजनीगंधा जागरण फिल्म फेस्टिवल का पर्दा 'चिंटू का बर्थडे' फिल्म से उठेगा। रात आठ बजे फिल्म का प्रदर्शन होगा। इसके बाद दूसरी फिल्म लेटर्स दिखाई जाएगी। रविवार तक चलने वाले फिल्मोत्सव में फीचर फिल्मों के साथ शॉर्ट फिल्मों की भी प्रस्तुति होगी। महोत्सव के दौरान मास्टर क्लास का भी आयोजन किया जाएगा। जागरण फिल्म फेस्टिवल को लेकर दर्शकों का उत्साह चरम पर है। बड़ी संख्या में पाठक दैनिक जागरण कार्यालय आकर एंट्री पास ले रहे हैं। पटना में जागरण फिल्म फेस्टिवल का यह 10वां साल है।

वयस्कों को पास पर मिलेगी इंट्री

जागरण फिल्म फेस्टिवल में प्रवेश पास से ही मिलेगा। फिल्म फेस्टिवल के लिए दर्शकों की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी जरूरी है। इससे कम उम्र वाले दर्शकों को सिनेमा हॉल में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। फिल्म का आनंद उठाने के लिए 'पहले आओ पहले पाओ' की तर्ज पर हॉल में स्थान मिलेगा।

बुक माई शो से कराइए रजिस्ट्रेशन

जागरण फिल्म फेस्टिवल के लिए इच्छुक दर्शक बुक माई शो से रजिस्ट्रेशन कराकर प्रवेश पा सकते हैं। यहां एक दिन के सभी शो के लिए दर्शकों को महज 50 रुपये देने होंगे। इसके बाद युवा अपनी इच्छा अनुसार फिल्में देख सकते हैं।




जागरण फिल्म फेस्टिवल को मेरी ढेर सारी शुभकामनाएं। मेरी कामना है कि हजार वर्षों तक यह फेस्टिवल यूं हीं चलता रहे। सिनेमा के क्षेत्र में यह फेस्टिवल बेहतरीन काम कर रहा है। कई जगह मैं इसमें शिरकत करता रहा हूं। खास तौर पर छोटे शहरों में जब इस तरह का फेस्टिवल होता है, तो वहां के लोगों को कुछ नई फिल्में देखने का मौका मिलता है। इंटरनेशनल सिनेमा का उन्हें एक्सपोजर मिलता है। छोटे और प्रतिभाशाली फिल्ममेकर्स को अपनी फिल्में प्रदर्शित करने का मौका मिलता है।
विजय राज, अभिनेता





मेरी शॉर्ट फिल्म 'माया' जागरण फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शित हुई थी। मेरा मानना है कि छोटी फिल्मों, डॉक्यूमेंट्री और शॉर्ट फिल्मों के प्रदर्शन के लिए यह बेहतरीन मंच है। मैं चाहती हूं कि जागरण फिल्म फेस्टिवल का विस्तार हो और यह फेस्टिवल नित्य नए आयाम गढ़े।
कीर्ति कुल्हारी, फिल्म अभिनेत्री 




मेरी शुभकामनाएं जागरण फिल्म फेस्टिवल के साथ है। यह जेएफएफ का 10वां साल है। मैं खुद दो बार इस फिल्म फेस्टिवल में जा चुका हूं। यह फेस्टिवल बहुत अच्छा काम कर रहा है। मैं यह इसलिए कह रहा हूं, क्योंकि यह फेस्टिवल कई छोटे शहरों में पहुंच रहा है। वहां के लोगों को यहां और दूसरे देशों की अच्छी फिल्में देखने का मौका मिल रहा है।
नवाजुद्दीन सिद्दीकी, फिल्म अभिनेता





आंखो देखी, दम लगा के हईशा जैसी मेरी कई फिल्में इस फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जा चुकी हैं। इस बार मेरी फिल्म और चिंटू का बर्थडे का प्रीमियर इसी फेस्टिवल में हुआ है। इसी फेस्टिवल में मुझे बरेली की बर्फी के लिए पुरस्कृत किया गया था। इसके लिए मैं जागरण फिल्म फेस्टिवल की शुक्रगुजार हूं। फेस्टिवल के दौरान फिल्म देखना और इसके बाद दर्शकों से संवाद करने का एक अलग अनुभव होता है। लोग हमसे क्या जानना चाहते हैं यह जानना बेहद जरूरी होता है। इस तरह की चीजों के लिए यह एक बेहतरीन मंच है।
- सीमा पाहवा, अभिनेत्री 




जागरण फिल्म फेस्टिवल मेरे लिए खास है। दरअसल, मुझे यहां निल बटे सन्नाटा के लिए मेरा पहला सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार मिला था। यह फेस्टिवल उम्दा कंटेंट और कथ्यपरक सिनेमा को बढ़ावा और प्रोत्साहन देता है। साथ ही फिल्ममेकरों को फिल्म निर्माण की दुनिया में चमकने का अवसर देता है।
- अश्विनी अय्यर तिवारी, निर्देशक

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Akshay Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप