जागरण संवाददाता, पटना: राजधानी में हर दूसरा अपराध नशे की हालत में या नशे की लत को पूरा करने के लिए होता है। नशे में धुत अपराधी चाकू से लेकर गोली मारने से भी नहीं हिचकते। एक-दो नहीं, बल्कि कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। पुलिस भी मानती है कि नशा एक बड़ा खतरा बन रहा है। राजधानी में शराब तस्करों व पीने वालों के खिलाफ पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है, जबकि मादक पदार्थ तस्कर और इसका उपयोग करने वाले बेलगाम हैं। चोरी-छिपे मादक पदार्थ की तस्करी के साथ ही इसके प्रभाव में आकर अपराधी वाहन चोरी व मोबाइल झपटमारी की वारदात कर रहे हैं। गत दिनों पुलिस ने कई वाहन चोर व सेंधमार गिरोह के बदमाशों को दबोचा। छानबीन में पता चला कि ज्यादातर बदमाश मादक पदार्थ के सेवन के आदी हैं। उन्होंने नशे की लत पूरी करने के लिए वारदात को अंजाम दिया है। गत बुधवार को ही दीघा इलाके में लूटपाट का विरोध करने पर बदमाशों ने मूंगफली दुकानदार को गोली मार दी थी। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए बदमाश ने नशे के लिए वारदात करने की बात स्वीकार की है।

बढ़े मादक पदार्थ की तस्करी के मामले

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के आकड़े के मुताबिक, बिहार में मादक पदार्थ की तस्करी व इसके प्रयोग में इजाफा हुआ है। वर्ष 2020 के मुकाबले 2021 में मादक पदार्थ की तस्करी में बढ़ोतरी हुई है। इस दौरान सबसे ज्यादा मात्रा में गांजे की बरामदगी हुई है। वहीं, अन्य मादक पदार्थों की तस्करी में भी तेजी आई है।

नकेल कसने की है तैयारी

पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने कहा कि मादक पदार्थ की तस्करी व नशाखोरी पर नकेल कसने की तैयारी कर ली गई है। अपराधियों पर कार्रवाई के लिए पटना पुलिस एनसीबी के समन्वय से कार्रवाई करेगी। पुलिस अधिकारी नियमित रूप से एनसीबी के साथ बैठक करेंगे। 

केस 1

18 अगस्त को फुलवारी थाने की पुलिस ने छह बदमाशों को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला कि आरोपित स्मैक के लिए घरों में चोरी की वारदात करते थे। 

केस 2

30 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा के घर पर चोरी हुई थी। एयरपोर्ट पुलिस ने दो बदमाशों को पकड़ा। दोनों स्मैक के आदी थे। नशे के लिए चोरी करते थे। 

केस 3

तीन दिसंबर को एयरपोर्ट पुलिस ने झपटमार मुकेश और भंटा को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला कि वे नशे के लिए मोबाइल झपटमारी करते थे।

केस 4

आठ दिसंबर को राम कृष्ण नगर थाने की पुलिस ने अभिषेक नाम के बदमाश को दबोचा। आरोपित स्मैक के लिए बस स्टैंड से लोहा व अन्य सामान चुराकर बेचता था। 

केस 5

नौ दिसंबर को फुलवारी में संगत के समीप पत्नी व भाई के साथ कार से जा रहे आफताब नाम के युवक से लूटपाट की कोशिश हुई। विरोध करने पर चार बदमाशों ने पिस्टल की बट से हमला कर आफताब के भाई को घायल कर दिया था। पुलिस छानबीन में पता चला कि आरोपित नशे में वारदात को अंजाम दिए थे।

Edited By: Akshay Pandey