दीनानाथ साहनी, पटना । बिहार की महागठबंधन सरकार का चेहरा स्पष्ट हो गया है। मंगलवार को नए 31 मंत्रियों ने शपथ ली और उनके बीच विभागों का बंटवारा भी कर दिया गया है। अधिसंख्य मंत्रियों ने कामकाज भी संभाल लिया। सर्वाधिक 16 मंत्री राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से हैं, जबकि जनता दल यूनाइटेड (जदयू) से 11 मंत्री बनाए गए हैं। कांग्रेस से दो, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) से संतोष मांझी के अलावा निर्दलीय विधायक सुमित कुमार सिंह को भी मंत्रिमंडल में स्थान मिला है। नए मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को जोड़कर कुल 33 सदस्य हो गए हैं। राज्यपाल फागू चौहान ने राजभवन के राजेंद्र मंडप में 31 मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। राजद की तरफ से कोसी-सीमांचल की राजनीति पर भी पूरा फोकस किया गया है। 

जदयू ने पिछली राजग सरकार में शामिल रहे अपने सभी 11 मंत्रियों को फिर से मंत्री बनाया है तो राजद में भी कई ऐसे चेहरे हैं, जो इससे पहले भी मंत्री रह चुके हैं। कांग्रेस के दोनों चेहरे नए हैं, जबकि संतोष व सुमित पिछली सरकार में भी मंत्री थे। विधानसभा की सदस्य संख्या के हिसाब से अभी तीन मंत्रियों के लिए गुंजाइश रह जाती है। 

मुख्यमंत्री ने अपने पास गृह, सामान्य प्रशासन, निगरानी एवं निर्वाचन आदि विभाग रखे हैं। उप मुख्यमंत्री तेजस्वी को स्वास्थ्य, पथ निर्माण, नगर विकास व आवास और ग्रामीण कार्य विभाग मिले हैं। वित्त-वाणिज्य विभाग जदयू को मिला है, जबकि शिक्षा विभाग राजद को। अब तक शिक्षा विभाग जदयू के पास रहा है। 

शपथ ग्रहण समारोह से भाजपा ने इस बार भी दूरी बनाए रखी। 10 अगस्त को नीतीश-तेजस्वी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में भी भाजपा की ओर से कोई नेता सम्मिलित नहीं हुआ था, जबकि वे पहले से निमंत्रित थे। 

सामाजिक न्याय पर दांव, सवर्णों की संख्या हुई कम 

महागठबंधन सरकार के स्वरूप पर गौर करें तो इसमें सामाजिक न्याय का पूरा ख्याल रखा गया है। ओबीसी-ईबीसी से सबसे 17 मंत्री बनाए गए हैं। सर्वाधिक आठ मंत्री यादव हैं। राजद ने सात यादवों को मंत्री बनाया है तो जदयू ने एक को। इसके बाद अनुसूचित जाति को महत्व मिला है। इस वर्ग से छह मंत्री हैं। इनमें राजद व जदयू से दो-दो तथा कांग्रेस व हम से एक–एक मंत्री हैं। मुस्लिम को भी पर्याप्त महत्व मिला है। पांच मंत्री मुस्लिम हैं, जिनमें तीन राजद से हैं और एक-एक जदयू व कांग्रेस से। अत्यंत पिछड़ा वर्ग से चार विधायक मंत्री बनाए गए हैं। इनमें राजद कोटे से एक धुनिया (पसमंदा मुस्लिम) है। कुशवाहा-कुर्मी से दो-दो और वैश्य बिरादरी से एक विधायक को मंत्रिमंडल में सम्मिलित किया गया है। सरकार में सवर्ण समुदाय की हिस्सेदारी कम हो गई है। इस बार तीन राजपूत, दो भूमिहार और एक ब्राह्मण को मंत्री बनाया गया है। यह संख्या छह हुई, जबकि भाजपा की सहभागिता वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार में इनकी संख्या 11 हुआ करती थी। 

राजद का कोसी-सीमांचल की राजनीति पर भी फोकस 

सरकार में कोसी-सीमांचल को पर्याप्त प्रतिनिधित्व देकर राजद की राजनीति को भी साधने का प्रयास किया गया है। सीमांचल की राजनीति में राजद के चर्चित नेता रहे मो. तस्लीमुद्दीन के बेटे शाहनवाज को राजद ने आपदा प्रबंधन मंत्री बनाया है। शाहनवाज डेढ़ माह पहले असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) को छोड़कर चार विधायकों के साथ राजद में शामिल हुए थे। जदयू व राजद ने भूमिहार से एक-एक विधायक को मंत्री बनाकर इस जाति को भी साधने का काम किया है। जदयू ने भूमिहार विजय कुमार चौधरी को वित्त, वाणिज्य एवं संसदीय कार्य मंत्री बनाया गया है तो राजद ने कार्तिकेय कुमार को विधि मंत्री बनाया है। ब्राह्मण कोटे से संजय कुमार झा को जल संसाधन विभाग और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग का मंत्री बनाया गया है। राजद किसी ब्राह्मण को मंत्री नहीं बनाया है। निषाद जाति से मदन सहनी जदयू कोटे से मंत्री बने हैं। नई सरकार में तीन महिलाओं को भी मंत्री बनाया गया है। राजपूत जाति से लेशी सिंह को खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग, धानुक शीला कुमारी को परिवहन और नोनिया जाति की अनिता देवी को पिछड़ा एवं अतिपिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग का मंत्री बनाया गया है। 

  •  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अधीन विभाग : सामान्य प्रशासन, गृह, मंत्रिमंडलीय सचिवालय, निगरानी, निर्वाचन। ऐसे सभी विभाग जो किसी को आवंटित नहीं हुए हैं। 
  • उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव : स्वास्थ्य, पथ निर्माण विभाग, नगर विकास विभाग एवं ग्रामीण कार्य विभाग।

जदयू से मंत्री और उनके विभाग

1.विजय कुमार चौधरी : वित्त, वाणिज्य एवं संसदीय कार्य

2. बिजेंद्र प्रसाद यादव : ऊर्जा, योजना एवं विकास विभाग

3. संजय कुमार झा : जल संसाधन, सूचना व जन संपर्क विभाग

4. श्रवण कुमार : ग्रामीण विकास विभाग

5. अशोक चौधरी : भवन निर्माण विभाग

6. मदन सहनी : समाज कल्याण विभाग

7. लेशी सिंह : खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग

8. शीला कुमारी : परिवहन विभाग

9. सुनील कुमार :  मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन

10. जयंत राज : लघु सिंचाई विभाग

11. मो.जमा खान : अल्पसंख्यक कल्याण विभाग

राजद से मंत्री और उनके विभाग

1. आलोक कुमार मेहता : राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग

2. तेज प्रताप यादव : पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग

3. सुरेंद्र प्रसाद यादव : सहकारिता विभाग

4. डा.रामानंद यादव : खान एवं भूतत्व विभाग

5. कुमार सर्वजीत : पर्यटन विभाग

6. ललित कुमार यादव : लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग

7. समीर कुमार महासेठ : उद्योग विभाग

8. चंद्रशेखर : शिक्षा विभाग

9. अनिता देवी : पिछड़ा वर्ग एवं अतिपिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग

10. जितेंद्र कुमार राय : कला, संस्कृति एवं युवा विभाग

11. सुधाकर सिंह : कृषि विभाग

12. कार्तिक कुमार : विधि विभाग 13. शमीम अहमद : गन्ना उद्योग विभाग

14. शाहनवाज : आपदा प्रबंधन विभाग

15. सुरेंद्र राम : श्रम संसाधन विभाग

16. मोहम्मद इसराईल मंसूरी : सूचना प्रावैधिकी विभाग

कांग्रेस के मंत्री एवं विभाग

1. मो. आफाक आलम : मत्स्य एवं पशु संसाधन विभाग

2. मुरारी प्रसाद गौतम : पंचायती राज विभाग

हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के मंत्री एवं विभाग

1. संतोष कुमार सुमन : अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण विभाग

जो निर्दलीय विधायक बने मंत्री

1. सुमित कुमार सिंह : विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग

Edited By: Rahul Kumar