पटना [जेएनएन]। लालू आवास पर हाई वोल्टेज ड्रामा का तत्काल उस समय पटाक्षेप हो गया, जब 12 घंटे धरने पर बैठने के बाद सास राबड़ी देवी ने बहू ऐश्वर्या राय को घर में प्रवेश करने की अनुमति दी। इसके पहले धरना के दौरान ऐश्‍वर्या के पिता व राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के विधायक चंद्रिका राय के समर्थकों ने पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव व राबड़ी देवी के खिलाफ नारेबाजी की। हंगामा शांत करने में पुलिस को मश्‍ाक्‍कत करनी पड़ी।

इसके पूर्व लालू प्रसाद यादव की बहू ऐश्‍वर्या राय ने सास राबड़ी देवी पर ससुराल से निकाल देने का आरोप लगाया था। घर के बाहर से ऐश्वर्या ने गेट खुलवाने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहीं। इसके बाद वे माता-पिता के साथ आवास के बाहरी भाग में आमरण अनशन व धरना पर बैठ गईं थीं।

इसी बीच धरना से उठकर ऐश्‍वर्या के पिता चंद्रिका राय डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से मिलने पहुंचे। जब वे मिलकर वापस आए तो उन्हें राबड़ी आवास के बाहरी परिसर स्थित धरना स्‍थल पर नहीं जाने दिया गया। इसके बाद वे आवास के बाहर ही गेट पर बैठ गए। चंद्रिका समर्थक भी काफी संख्या में राबड़ी आवास पहुंच गए। वहां पर उन्‍होंने काफी हंगामा किया। हंगामा की जानकारी मिलते ही सचिवालय थाना की पुलिस भी पहुंची।

बता दें कि बड़े राजनीतिक परिवार की बेटी ऐश्‍वर्या राय की शादी लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के साथ हुई है। लेकिन शादी के छह महीने के भीतर ही तेज प्रताप यादव ने पत्‍नी से तलाक का मुकदमा दायर कर दिया। मुकदमा कोर्ट में लंबित है। इस बीच ऐश्‍वर्या राय ने पहली बार अपना मुंह खाेलते हुए सास राबड़ी देवी पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्‍हें घर से धक्‍के मारकर बाहर निकाल दिया। अब ऐश्वर्या राय राबड़ी आवास में ही रहने की जिद पर अड़ गईं हैं। उनका कहना है कि तलाक हुआ नहीं है, इसलिए ससुराल में रहना उनका हक है।

ऐश्‍वर्या के अनुसार, राबड़ी देवी उन्‍हें जून महीने से खाना नहीं देतीं। उनका खाना पिता के घर से आता है। नवरात्र के पहले दिन पानी पीने के लिए उन्‍होंने किचेन की चाबी मांगी तो ननद मीसा भारती ने सास राबड़ी देवी के सामने दुर्व्‍यवहार किया, फिर धक्‍के देकर घर से निकाल दिया।

धरना पर बैठने के पहले ऐश्‍वर्या ने बताया कि उनके कपड़े घर में ही हैं। बारिश हो रही है। ऐसे में उन्‍हें घर में एंट्री नहीं दी जा रही है। गेट पर पूछने पर अंदर से सुरक्षाकर्मी ने जवाब दिया कि उनके लिए गेट नहीं खोलने का अंदर से आदेश है।

इसके पहले वहां पहुंचीं महिला आयोग की प्रोटेक्‍शन अधिकारी प्रमिला ने बताया कि राबड़ी देवी ने ऐश्‍वर्या से जान का खतरा बताते हुए उन्‍हें एंट्री देने से इनकार कर दिया है।

बहरहाल, ऐश्वर्या राय को राबड़ी आवास के बाहरी हिस्‍से में करीब 12 घंटे के धरना के बाद देर रात एंट्री मिल गई है। बताया जाता है कि राबड़ी देवी इसके लिए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के हस्‍तक्षेप के बाद राजी हुईं।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस