पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार के सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की महत्‍वाकांक्षी योजना जल-जीवन-हरियाली को अब प्रदेश भर के सरकारी विद्यालयों समेत उच्च शिक्षण संस्थानों में भी प्रभावी तरीके से लागू करने की तैयारी हो रही है। इसके तहत राज्‍य के सभी विद्यालयों से लेकर महाविद्यालयों (in all schools and colleges)  में ग्रीन कैंपस (green campus)  विकसित किए जाएंगे। साथ ही शिक्षण संस्थानों के आसपास के इलाके को भी ग्रीन जोन (green zone) के रूप में विकसित किया जाएगा। इस अभियान के तहत 1.5 करोड़ पौधे लगाए जाएंगे।  

जून से शुरु होगा अभियान

पर्यावरण, वन और जलवायु विभाग की मदद से शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षण संस्थानों में ग्रीन कैंपस विकसित करने का कार्य जून से आरंभ किया जाएगा। इसके अलावा मदरसों एवं संस्कृत विद्यालयों (Madarsa and Sanskrit Schools) में भी ग्रीन कैंपस विकसित किए जाएंगे। शिक्षण संस्थानों के आसपास के इलाकों में भी पौधे लगाये जाएंगे और सामाजिक दायितत्व (social responsibility) के रूप में स्थानीय लोगों को पौधारोपण एवं पर्यावरण संरक्षण (environment conservation) के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। विद्यालयों, महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों के  परिसरों में ग्रीन कैंपस विकसित करने को लेकर एक प्रजेंटेशन तैयार किया जा रहा है जो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने प्रस्तुत किया जाएगा।

3 अगस्त को मनेगा जल-जीवन-हरियाली दिवस

शिक्षा विभाग अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि सभी सरकारी एवं निजी विद्यालयों में जल-जीवन-हरियाली अभियान के अंतर्गत 3 अगस्त को जल-जीवन-हरियाली दिवस मनाया जाएगा और सभी विद्यालयों में छत-वर्षा जल संचयन विषय पर परिचर्चा आयोजित होगी। कार्यक्रम में शामिल प्रतिभागियों को जल-जीवन-हरियाली अभियान के बारे में जानकारी दी जाएगी।

--

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप