जागरण संवाददाता, पटना: अक्षय तृतीया के लिए आभूषणों की बुकिंग इस बार बहुत ही कम हुई है। बुकिंग का सिलसिला शुरू ही हुआ था कि लॉकडाउन की घोषणा हो गई। इस वजह से दुकानें बंद हो गईं। साथ ही बुकिंग भी बंद हो गई। हालांकि जो लोग बुकिंग कराए हैं, उन्हें भी अक्षय तृतीया पर आभूषण नहीं मिल सकेंगे। अब लॉकडाउन के बाद ही डिलीवरी होगी। 

दुकानें बंद रहेंगी, कारोबार नहीं होगा

लॉकडाउन की वजह से सराफा दुकानें अक्षय तृतीया पर बंद रहेंगी। होम डिलीवरी भी नहीं होगी। सराफा व्यवसायियों ने कहा कि अक्षय तृतीया के लिए महज दो- चार फीसद ही ग्राहक बुकिंग करा पाए थे कि लॉकडाउन लग गया। ऐसे ग्राहकों को लॉकडाउन खत्म होने के बाद ही आभूषणों की डिलीवरी दी जाएगी। फ्रेजर रोड तनिष्क के प्रबंधक उमेश टेकरीवाल ने कहा कि लॉकडाउन के बाद ही ग्राहकों को आभूषण मिल पाएंगे। 

150 करोड़ रुपये के कारोबार का था अनुमान

अक्षय तृतीया पर इस साल करीब 150 करोड़ रुपये के कारोबार का अनुमान लगाया गया था। शादियों के लिए आभूषणों की खरीदारी भी संभावित थी। इससे भी कारोबार को बल मिलता। लेकिन लॉकडाउन की वजह से दुकानें बंद हो गईं। अनेक शादियां भी टल गईंं। इस वजह से करीब 150 करोड़ रुपये का कारोबार बाधित हुआ है। बाजार के जानकार विकास कुमार ने कहा कि इस साल शादियां बहुत थीं, इसलिए अक्षय तृतीया पर मजबूत कारोबार की उम्मीद थी लेकिन बिक्री पूरी तरह से ठहर गई है। 

सोना-चांदी का भाव स्थिर

तीन मई के बाद से ही पठना में सोना और चांदी के भाव स्थिर बने हुए हैं। गुरुवार को भी कोई घटबढ़ नहीं हुई। थोक मंडी के सूत्रों ने कहा कि बाजार बंद है इसलिए भाव भी नहीं खुल रहा है। सोना बिठूर का भाव 49,200 रुपये, और सोना 22 कैरेट का भाव 49050 रुपये प्रति दस ग्राम पर स्थिर बन हुआ है। इसी तरह से चांदी का भाव भी 70,200 रुपये के पूर्वस्तर पर टिका हुआ है।