संवाद सूत्र, बैकुंठपुर (गोपालगंज) : बैकुंठपुर थाना क्षेत्र की बंगरा पंचायत अंतर्गत मंड़वा गांव स्थित मध्य विद्यालय में शुक्रवार को सातवीं कक्षा की एक छात्रा बाबा साहेब डा. भीमराव आंबेडकर की तस्वीर दीवार पर लगाने के लिए पहुंच गई। इस दौरान विद्यालय के अन्य छात्राओं ने फोटो लगाने का विरोध शुरू करते हुए उसकी जमकर पिटाई कर दी। छात्रा जब इसकी शिकायत स्कूल के शिक्षकों से करने पहुंची तो उन्होंने भी उसकी पिटाई कर दी। रविवार छात्रा की हालत बिगड़ने के बाद बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल, गोपालगंज चिकित्सक ने रेफर कर दिया। इस मामले में छात्रा के आवेदन पर तीन शिक्षक समेत नौ लोगों के खिलाफ एफआइआर कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। आरोपित शिक्षकों ने छात्रा के साथ मारपीट की घटना से इनकार किया है। 

बताया जाता है कि बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के रहने वाली छात्रा मध्य विद्यालय में पढ़ाई करती है। बीते शुक्रवार को विद्यालय परिसर में बाबा साहेब की तस्वीर के साथ कुछ छात्राएं अभद्र व्यवहार कर रही थीं। इसे देखकर छात्रा ने विरोध किया। बाद में लड़की बाबा साहब की तस्वीर को विद्यालय की दीवार पर लगाने के लिए पहुंच गई। इस दौरान छात्राओं ने उसकी पिटाई कर दी। इसकी शिकायत करने के लिए छात्रा शिक्षकों के पास गई। शिक्षकों ने भी छात्रा की पिटाई कर दी। पिटाई करने वालों में एक महिला शिक्षिका भी शामिल हैं। मारपीट के बाद छात्रा की तबीयत बिगड़ गई। शुक्रवार की शाम को छात्र को इलाज के लिए बैकुंठपुर सीएचसी में भर्ती कराया गया। रविवार को सीएचसी से उसे चिकित्सकों ने सदर अस्पताल गोपालगंज रेफर किया गया। 

छात्रा के आवेदन पर नौ लोगों के खिलाफ एफआइआर

मामला शनिवार को प्रकाश में आने के बाद विधायक प्रेमशंकर प्रसाद यादव ने पीड़ित छात्रा के घर जाकर स्वजन से मामले की जानकारी ली। थानाध्यक्ष धनंजय कुमार राय ने बताया कि छात्रा के आवेदन पर नौ लोगों के खिलाफ एफआइआ करने के बाद मामले की तहकीकात की जा रही है। शिक्षक उदय सिंह, शिक्षक लालबाबू सिंह, शिक्षिका प्रतिभा देवी के अलावा विद्यालय की छह छात्राओं पर प्राथमिकी कराई गई है। वहीं, पूर्व मंत्री जनक राम सहित कई भाजपा नेता ने भी छात्र के स्वजन से मुलाकात कर घटना की जानकारी लेने के बाद पुलिस से कार्रवाई करने की मांग की।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट