अररिया / पूर्णिया, जेएनएन। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह इन दिनों बिहार में सीमांचल के दौरे पर हैं। अररिया-पूर्णिया में लोगों को संबोधित कर रहे हैं। भाजपा की बैठक में नेताओं-कार्यकर्ताओं को चुनावी टिप्‍स दे रहे हैं। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। साथ ही सीएए के विरा‍ेधियों पर लगातार गरज रहे हैं। उन्‍होंने साफ कहा कि कुछ लोग भारत में रहकर पाकिस्‍तान का नाम जपते हैं। ऐसे ही गद्दारों से देश को खतरा है।  

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने दो टूक कहा कि भारत को पाकिस्तान व चीन से खतरा नहीं है, बल्कि, असली खतरा देश के अंदर छिपे गद्दारों से है। अररिया की सभा में उन्होंने कहा कि आज विपक्ष डॉ. भीमराव अंबेडकर का नाम लेकर वोट की राजनीति कर रहा है। जिन्ना के निर्णय का विरोध आंबेडकर ने भी किया था। भारतीय जनता पार्टी ने कभी देश के सम्मान को ठेस पहुंचाने वाला काम नहीं किया है।

उन्‍होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने जाति-धर्म देखकर योजनाओं की शुरुआत नहीं की। कांग्रेस व अन्य विपक्षी दल जनता को बरगला कर वोट की राजनीति करते हैं। जब देश है, तभी हमलोग हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव में यह तय करना है कि वोट राष्ट्रवाद को ध्यान में रखकर करना है। देश में बढ़ रही जनसंख्या चिंता का विषय है। इस बार जनसंख्या नियंत्रण कानून भी लागू किया जाएगा। 

वहीं, पूर्णिया में उन्‍होंने कहा कि देश में सीएए एवं एनआरसी के नाम पर हो रहा विरोध देश को तोडऩे, बांटने व डराने की साजिश है।  प्रधानमंत्री एवं गृहमंत्री अपने संबोधन में पूरे देश को बता चुके हैं कि सीएए नागरिकता दिलाने का कानून है, छीनने का नहीं। उन्‍होंने कहा कि शाहीन बाग में शरजिल इमाम भड़काऊ भाषण देता है। अलीगढ़ और हैदराबाद में भी भारत विरोधी नारे लगाए जा रहे हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि आज देशवासियों को राष्ट्र के प्रति समर्पित होने का समय आ गया है। देश के बंटवारे के समय बड़ी गलती की गई। आज भारतवंशियों को भारत में जगह नहीं मिलेगी, तो उन्हें कौन देश शरण देगा।

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस