पटना सिटी : तख्त श्रीहरिमंदिर जी पटना साहिब के बेसमेंट स्थित पार्किंग में खड़ी गाड़ियों के बीच फायरिग करने वाले पूर्व फौजी को एक साथी के साथ पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। गिरफ्तार सेवानिवृत्त फौजी के पास से पुलिस ने तलाशी के दौरान लाइसेंसी रिवाल्वर, 11 कारतूस तथा तीन खोखे जब्त किया। थानाध्यक्ष गौरीशंकर गुप्ता ने गुरुवार को बताया कि पूर्व फौजी ने बताया है कि गलती से गोली चल गई। थानाध्यक्ष ने यह भी बताया कि गुरुद्वारा के बेसमेंट में फायरिग करने के मामले में की गई पूछताछ में फौजी और उसके साथी से कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला है। सीसीटीवी फुटेज से छानबीन करने और पूछताछ के बाद पुलिस ने दोनों गिरफ्तार को जेल भेज दिया।

तख्त श्री हरिमंदिर जी पटना साहिब के बेसमेंट स्थित पार्किंग में देर रात फायरिग होने की सूचना मिलने के बाद चौक थाना पुलिस पहुंच कर छानबीन करती रही।

सेवानिवृत्त फौजी के पास मिला लाइसेंसी रिवाल्वर व कारतूस

दारोगा सुदेश्वर पासवान ने तलाशी के दौरान पंजाब के तरणताल चुताला के 43 वर्षीय सेवानिवृत्त फौजी रणजोध सिंह की कमर में बंधे बेल्ट से रिवाल्वर बरामद किया गया। गिरफ्तार फौजी द्वारा रिवाल्वर लाइसेंसी बताया गया। जांच के दौरान जब्त रिवाल्वर जम्मू-कश्मीर के उधमपुर से निर्गत पूरे भारतवर्ष के लिए पाया गया।

प्रतिबंधित क्षेत्र में गोली चलाने की घटना सीसीटीवी में कैद

पुलिस द्वारा गुरुद्वारा परिसर में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाला गया। सीसीटीवी फुटेज में पंजाब के तरणताल चुताला पगेड़ी के नवदीप सिंह और पीछे फौजी रणजोध सिंह तख्त श्री हरिमंदिर जी पटना साहिब के बेसमेंट में जाते दिखे। सेवानिवृत्त फौजी रणजोध सिंह पार्किंग में खड़ी गाड़ियों के बीच रिवाल्वर हाथ में लेकर फायर करते तथा रिवाल्वर को कमर में छुपाते दिखा। थानाध्यक्ष ने बताया कि लाइसेंसी हथियार लेकर प्रतिबंधित क्षेत्र में आने और लापरवाहीपूर्वक गोली चलाने से किसी श्रद्धालु या कर्मी को लग सकती थी।

एक सप्ताह पहले नौकरी से हटाया गया था

बताया जाता है कि लगभग एक वर्ष से सेवानिवृत्त फौजी पटना सिटी के एक व्यवसायी के यहां बाडीगार्ड के रूप में कार्यरत था। लगभग एक सप्ताह पहले अधिक नशा करने के कारण व्यवसायी ने सेवानिवृत्त फौजी को कार्यमुक्त कर दिया था। सूचना के बाद सेवानिवृत्त फौजी के स्वजन उसे पंजाब ले जाने यहां आए थे।

Edited By: Jagran