पटना, जेएनएन। मालसलामी थाना क्षेत्र के गौरी दास की भट्ठी पर रविवार की मध्य रात लगी आग से अशोक राजपथ में चार दुकानें जलकर राख हो गई। चारों दुकान में रखे रुपये, किराना, पूजा सामग्री, कपड़ा व अन्य सामान जलकर राख हो गए। तीन बड़े व दो छोटे दमकल वाहनों ने मौके पर पहुंच कर आग पर काबू पाया। आग से एक ही झटके में चार दुकानदारों की खुशियां, और जमा किए गए पूंजी से खरीदे गए सामान आग की भेंट चढ़ गए।


संभावना जताई जा रही है कि मोहल्ले में आई बारात में दुकानों के सामने छोड़े गए सैकड़ों पटाखों से उठी चिंगारी से दुकानों में आग लगी होगी। आग बुझाने गए अग्निक रामबली, सुबोध, संजय, विपेंद्र, अजय, दीपक व अमित ने बताया कि आग लगने का कारण आतिशबाजी के दौरान उठी चिंगारी ही प्रतीत होता है। बारातियों द्वारा छोड़े जा रहे पटाखों से आग लगने की आशंका शेखू रेडीमेड के दुकानदार शमशाद ने बताया कि रविवार की रात लगभग दस बजे दुकान बंद कर अंदर ही सो गए थे।


रात लगभग 11 बजे अशोक राजपथ पर गुजर रहे बारातियों द्वारा आतिशबाजी की जा रही थी। लगभग आधा घंटे तक पटाखों की तेज गूंज सुनाई देती रही। पटाखों से उड़ी ¨चगारी दुकानों पर गिर रही थी। बारात गुजरने के बाद जब दुकानदार बाहर निकला तो बगल के पूजा सामग्री विक्रेता कैलाश प्रसाद के दुकान में आग फैलते देखा। देखते ही देखते तीन अन्य दुकानें शेखू रेडीमेड, किराना तथा पूजा सामग्री दुकान भी आग की चपेट में आ गई। अगलगी के बाद मची अफरातफरी आग की उठती तेज लपट से अफरातफरी मच गई। जलती दुकानों के तीनों ओर सटे पक्के मकान में रहनेवाली लोग छतों से पानी गिरा आग बुझाने के प्रयास में जुट गए।

सामने घर की बो¨रग चालू कर आग बुझाने का प्रयास किया गया। स्थानीय नागरिकों ने 11:58 बजे रात में पटना सिटी फायर स्टेशन को आग लगने की सूचना दी। लगभग 12:30 बजे पटना सिटी फायर स्टेशन से दो बड़े, दो छोटे तथा कंकड़बाग से एक बड़ा दमकल वाहन आग बुझाने पहुंचा। लगभग तीन घंटे के प्रयास के बाद दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पाया। लेकिन चारों दुकानों की संपत्ति जल चुकी थीं। जलती दुकानों के सामने खड़े तमाशबीन को हटाने में मालसलामी पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।


20 लाख का नुकसान पूजा सामग्री बेचनेवाले दुकानदार कैलाश प्रसाद ने बताया कि उनकी दुकान अयोध्या प्रसाद के पूजा सामग्री के नाम से प्रसिद्ध है। उनकी दुकान 80 वर्षो से यहां है। दुकानदार के अनुसार अगलगी में दुकान में रखे लगभग चार लाख के सामान जल गए। दूसरे शेखू रेडीमेड के दुकानदार शमशाद ने बताया कि उनकी दुकान लगभग 40 वर्ष पुरानी है। उनके दुकान में रखे छह लाख के कपड़े जलकर राख हो गए। तीसरे किराना दुकानदार अशोक कुमार ने बताया कि पिता के समय से स्थापित दुकान में लगभग पांच लाख के किराना सामान जल गए। चौथे पूजा सामग्री विक्रेता जगन्नाथ प्रसाद वर्मा ने बताया कि अगलगी में लगभग पांच लाख की सामग्री जल गई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप