पटना [जेएनएन]। राजधानी पटना के जक्कनपुर थाना अंतर्गत इंदिरा नगर में गुरूवार एक के बाद एक ब्‍लास्‍ट होने लगे। आग की लपटें आसमान छूने लगी। चारों तरफ धुंए का गुब्‍बार भर गया। लोग इधर-उधर भागने लगे। बिजली कनेक्‍शन काट दिया गया। सायरन बजाती पुलिस और फायरब्रिगेड की गाडि़यां मौके पर पहुंच गई।

दरअसल, अवैध तरीके से गैस रीफिलिंग के दौरान आग लगने से ताबड़तोड़ सिलिंडर फटने लगे, जिससे राजधानी पटना के जक्कनपुर थाना क्षेत्र का इंदिरा नगर इलाका थर्रा उठा। इलाके में अफरा-तफरी मच गई। लोग घरों से निकलकर महफूज जगह की तलाश में भागने लगे। भगदड़ की स्थिति बन गई।

इस बीच सूचना पाकर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। कंकड़बाग अग्निशमन केंद्र से आए तीन दमकल ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। तब तक दो दुकानें राख हो चुकी थी। अग्निकांड में दुकानदार शंभू सिंह का बेटा बिट्टू बुरी तरह झुलस गया। उसे पीएमसीएच के आइसीयू में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी है।

इंदिरा नगर के रोड नंबर एक की शुरुआत में ही दीपू कुमार सिंह का मकान है। उस मकान की दो दुकानों को अशोक नगर निवासी शंभू सिंह ने किराए पर ले रखा है, जिसमें वह श्वेता होम अप्लायंस नामक से बिजली युक्त सामान की मरम्मत और बिक्री का काम करता है। उसी में वह अवैध तरीके से बड़े से छोटे गैस की रीफिलिंग भी करता है। दुकान में एक बड़ा और सात छोटे सिलिंडर रखे थे।

बताया जाता है कि गैस रीफिलिंग के दौरान लीकेज के कारण आग लग गई। उस वक्त दुकान में शंभू के साथ उसका बेटा बिट्टू भी था। दोनों सामान समेटने में रह गए, तब तक एक के बाद एक सिलिंडर फटने लगे। धमाका इतना तेज था कि दोनों दुकानों की छत टूट गई। उन दुकानों के बीच की दीवार भी ध्वस्त हो गई और सारा सामान राख हो गया। बिट्टू भी आग से बुरी तरह झुलस गया।

शंभू शॉर्ट सर्किट की वजह से आग पकडऩे की बात कह रहा है, जबकि कंकड़बाग फायर ऑफिसर श्याम बिहारी राम ने आग लगने का कारण अवैध तरीके से गैस की रीफिलिंग बताया है। वहीं थाना पुलिस घटना के कारणों की तलाश कर रही है। अवैध तरीके से गैस की रीफिलिंग करने के आरोप में शंभू की गिरफ्तारी संभव है।

Posted By: Ravi Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस