Move to Jagran APP

Bihar: पटना कॉलेज के प्रशासनिक भवन में लगी आग, 50 लाख से अधिक का नुकसान; 400 साल से ज्यादा पुरानी है बिल्डिंग

Fire in Patna College पटना कॉलेज के प्रशासनिक भवन में आग लगने से बीसीए लैब में रखे 24 कंप्यूटर सेट सहित अन्य सामान जलकर खाक हो गए। सूचना पर पहुंची छह दमकल गाड़ियों ने दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

By Jai Shankar BihariEdited By: Roma RaginiPublished: Wed, 29 Mar 2023 08:23 AM (IST)Updated: Wed, 29 Mar 2023 08:23 AM (IST)
पटना कॉलेज के प्रशासनिक भवन में लगी आग

पटना, जागरण संवाददाता। पटना कॉलेज के प्रशासनिक भवन स्थित गणित और बीसीए विभाग में मंगलवार की सुबह आग लग गई। आगजनी में बीसीए लैब में रखे 24 कंप्यूटर सेट, प्रोजेक्टर, स्मार्ट बोर्ड, प्रिंटर सहित विभाग के तमाम उपकरण और सामान राख हो गया।

loksabha election banner

प्रारंभिक जांच में आग का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। 50 लाख से ज्यादा की सामग्री और संसाधन को नुकसान पहुंचने का प्रारंभिक अनुमान लगाया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, चैती छठ अर्घ्य के कारण पटना कॉलेज घाट पर सुबह काफी भीड़ थी। सुबह छह बजे प्रशासनिक भवन से धुआं निकलता देख, इसकी जानकारी अग्निशमन विभाग और शिक्षकों को दी गई।

20 मिनट के अंदर अग्निशमन विभाग की छह गाड़ियां मौके पर पहुंची। दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका है। तीन घंटे तक भवन को ठंडा रखने के लिए विशेष अभियान चलाया गया। प्राचार्य प्रौ. तपन कुमार ने बताया कि नुकसान का आकलन किया जा रहा है।

400 साल से ज्यादा पुराना है प्रशासनिक भवन

भवन के मध्य भाग का निर्माण 1680 ईसवीं में बताया जाता है, जबकि पूर्वी और पश्चिम भाग का निर्माण 1800 ईसवीं के आसपास हुआ था।

आग प्रशासनिक भवन के पश्चिमी खंड के प्रथम तल में लगी थी । आइआइटी रुड़की के पूर्व प्राध्यापक प्रो. एसएन सिन्हा का कहना है कि भवन में लकड़ी का काफी उपयोग किया गया है। यदि आग से लकड़ी के बीम और शहतीर को प्रभावित हुई होगी तो भवन को काफी नुकसान संभावित है।

पीरबहोर थाना प्रभारी सवीह उल हक ने कहा कि हेरिटेज बिल्डिंग में वायरिंग काफी पुरानी थी। प्रारंभिक जांच में शॉर्ट सर्किट की बात सामने आ रही है। अग्निशमन के पदाधिकारियों से समन्वय कर जरूरी एहतियात बरती गई।

तीन दिनों के बाद हुई थी बिजली आपूर्ति

बिल जमा नहीं होने के कारण पटना कालेज के प्रशासनिक भवन की बिजली बोर्ड ने काट दी थी। शनिवार को ही बिजली आपूर्ति बहाल की गई थी।

प्रारंभिक जांच के आधार पर बताया जा रहा है कि भवन के बिजली तार काफी जर्जर हो चुके हैं। शॉर्ट सर्किट से आग पर्दा में लगी, जिसके बाद खिड़की और अन्य सामग्री को चपेट में ले लिया। जर्जर बिजली के तार के कारण दोपहर में छात्र कामन रूम में भी शार्ट सर्किट हो गया था।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.