पटना, राज्य ब्यूरो। पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में शराब माफिया नकली शराब बनाकर बिहार के विभिन्न जिलों में भेज रहे थे। शनिवार को बिहार पुलिस की मद्य निषेध इकाई ने दार्जिलिंग के फासीदेवा इलाके में छापेमारी कर नकली शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया। यह अवैध काम कुछ दिन पहले पकड़े गए शराब तस्कर विश्वजीत सरकार के घर में हो रहा था। मौके से पुलिस की टीम ने 18 हजार लीटर ड्रम में रखी स्प्रिट और 30 हजार कार्टन खाली शराब की बोतलें बरामद की हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार, स्प्रिट से नकली अंग्रेजी शराब बनाकर बिहार भेजी जाती है।

सिलीगुड़ी से पकड़ा गया था शराब तस्‍कर

मद्य निषेध इकाई ने इसी मंगलवार को पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी से शराब तस्कर विश्वजीत सरकार उर्फ वासु दा को पकड़ा था। उससे पूछताछ में पुलिस को जानकारी हुई कि वह दार्जिलिंग स्थित ठिकाने पर नकली शराब तैयार करता था। इसके बाद पुलिस की टीम दार्जिलिंग गई और छापेमारी कर सामान की बरामदगी की।

जल्द बड़े सिंडिकेट का होगा खुलासा

मद्य निषेध अधिकारियों का दावा है कि विश्वजीत सरकार की निशानदेही पर जल्द ही बंगाल से बिहार भेजने वाले शराब माफिया के बड़े सिंडिकेट का खुलासा किया जाएगा। विश्वजीत ने पुलिस पूछताछ में राज्य के सीमांचल और उत्तर बिहार के आधा दर्जन जिलों में ट्रकों से शराब आपूर्ति की बात स्वीकार की है। इसमें पूर्णिया, अररिया, सुपौल, किशनगंज, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर एवं मोतिहारी जैसे जिले शामिल हैं।

  • दार्जिलिंग में नकली शराब बनाकर भेजी जा रही थी बिहार
  • बिहार पुलिस की मद्य निषेध इकाई ने की छापेमारी
  • शराब तस्कर विश्वजीत सरकार के ठिकाने पर पहुंची पुलिस

इतनी शराब हुई बरामद

  • 18 हजार लीटर ड्रम में रखी स्प्रिट
  • 30 कार्टन खाली शराब की बोतलें