पटना, जेएनएन। राजधानी में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा। एक दिन पहले यानी शुक्रवार को गौरीचक थाना क्षेत्र के उसफा बाजार में दुकान में ही बदमाशों ने सर्राफा व्यवसायी रणजीत कुमार (32) की गोली मारकर हत्या कर दी। अपराधियों ने उनके सीने में दो गोली मारी थी। अचानक फायरिंग से बाजार में अफरातफरी मच गई। दुकानों के शटर गिरने लगे। फायरिंग की सूचना पाकर गौरीचक थानाध्यक्ष कृष्ण मुरारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि दुकानदार के चचेरे साले की भूमिका संदिग्ध है। परिजनों ने अब तक आवेदन नहीं दिया है।

गोली लगने के बाद अपराधी को दबोचने का किया प्रयास

नालंदा के हरनौत निवासी रणजीत कुमार (32 वर्ष) की उसफा बाजार में आभूषण की दुकान है। शुक्रवार को अपराह्न् तीन बजे एक बाइक पर सवार दो अपराधी पहुंचे और दुकान में दाखिल हो गए। दुकानदार रणजीत से किसी बात को लेकर कहासुनी हुई। इसी दौरान एक अपराधी ने पिस्टल निकाली और रणजीत के सीने में गोली मार दी। गोली लगने के बाद घायल रणजीत ने अपराधी को दबोचने का प्रयास किया, इसी बीच दूसरे अपराधी ने कमर से पिस्टल निकली और दूसरी गोली मार दी।

गोली लगते ही रणजीत गिर गए और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। अपराधियों द्वारा फायरिंग किए जाने के बाद बाजार में अफरातफरी मच गई। आसपास की दुकानों में मौजूद ग्राहक भागने लगे और दुकानदार शटर गिराने लगे। पुलिस के पहुंचने के बाद स्थिति सामान्य हुई। थानाध्यक्ष ने बताया कि जांच में पता चला है कि दुकानदार रणजीत को चचेरे साले ने ही गोली मारी है। दोनों के बीच रुपये के लेन-देन को लेकर विवाद चल रहा था। हत्या में शामिल बदमाशों की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

वारदात के बाद पिस्टल लहराते हो गए फरार

वारदात को अंजाम देने के बाद अपराधी बाइक पर सवार हुए और पिस्टल लहराते हुए गौरीचक की ओर फरार हो गए। घटना के बाद पहुंची पुलिस को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। हालांकि पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन देकर उन्हें शांत कराया। देर शाम तक पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए कई जगहों पर छोमारी कर रही थी।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस