पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार में फिल्म निर्माण की प्रक्रिया और सरल होंगी। फिल्म निर्माण से जुड़े लोगों को बेहतर सुविधाएं मिले इसे सरकार अपने स्तर से देखेगी। गुरुवार को कला संस्कृति एवं युवा विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में फिल्म निर्माण को प्रोत्साहित किए जाने को ले कई कदम उठाए गए हैं। राजगीर में फिल्म सिटी का निर्माण कराया जा रहा है। नवादा में शेखोदेवरा को भी विकसित किया गया है।

फिल्म साइट के लिए पहाड़ों एवं प्राकृतिक जगहों पर सुविधाएं उपलब्ध की गई हैं। उन्होंने समीक्षा बैठक में मौजूद अधिकारियों को यह निर्देश दिया कि फिल्म निर्माताओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराएं ताकि यहां फिल्म निर्माण में उन्हें किसी तरह की परेशानी नहीं हो। राज्य में फिल्म निर्माण से पर्यटन को बढ़ावा तो मिलेगी ही साथ ही साथ लोक कलाकारों को मौका भी मिलेगा। रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे।

खिलाड़ियों की सरकारी सेवाओं में हो रही है नियुक्ति

मुख्यमंत्री राज्य में खेलों के विकास की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस दिशा में कई कदम उठाए गए हैं। खिलाड़ियों को तत्काल सम्मान एवं नकद पुरस्कार देकर उन्हें सम्मानित किया जा रहा। सरकारी सेवाओं में उनकी नियुक्ति हो रही। उन्हें बेहतर खान-पान के साथ-साथ बेहतर प्रशिक्षण की सुविधा दी जा रही। सभी प्रखंडों में स्टेडियम बनाए जा रहे। कला संस्कृति एवं युवा विभाग की सचिव वंदना प्रेयसी ने एक प्रेजेंटेशन के माध्यम से बिहार फिल्म प्रोत्साहन नीति के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

राष्ट्रीय स्तर पर बेटों के साथ-साथ बेटियां भी जीत रही हैं पुरस्कार

बिहार राज्य खेल प्राधिकरण के महानिदेशक रवींद्रण शंकरण ने जानकारी दी कि बेटों के साथ-साथ बेटियां भी राष्ट्रीय स्तर पर खेलों में अच्छा प्रदर्शन कर पुरस्कार जीत रही हैं। बैठक में वित्त मंत्री विजय कुमार चौधरी, कला संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री जितेंद्र कुमार राय, मुख्यमंत्री के परामर्शी अंजनी कुमार सिंह, प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव आमिर सुबहानी, विकास आयुक्त विवेक सिंह, वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव डा. एस सिद्धार्थ तथा कला संस्कृति एवं युवा विभाग के सचिव दीपक आनंद सहित कई आला अधिकारी मौजूद थे।

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट