पटना [जेएनएन]। बिहार में बीते साल उजागर हुए शौचालय घाेटाला में काला धन को सफेद करने के लिए मनी लांड्रिंग की गई थी। अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) इसकी जांच करेगा। इस बाबत ईडी नेएफआइआर दर्ज कर ली है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा के हरनौत स्थित चौरिया पंचायत में शौचालय निर्माण में बड़े पैमाने पर घोटाला सामने आया था। आगे जांच में इसकी कई परतें खुलती गईं। शौचालय निर्माण में फर्जी निकासी का पता चला। पटना के प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर के आदेश पर हरनौत प्रखंड के तीन अधिकारियों सहित 84 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया।

जांच के दौरान अन्‍य जिलों में भी ऐसे घोटाला का पता चला। ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने स्वीकार किया कि कहीं-कहीं इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं।

साल 2012 से 2015 के बीच हुए 14 करोड़ के इस घोटाले की जांच अब ईडी भी करेगा। बताया जाता है कि ईडी चार स्‍वयंसेवी संगठनों को नाटिस जारी करेगा। वह लोक स्‍वास्‍थ्‍य अभियंत्रण विभाग के अधिकारियों से भी पूछताछ करेगर। इस घोटाले की ईडी जांच में कई सफेदपोश लोगों की गर्दन फंस सकती है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप