पटना, जेएनएन। लॉकडाउन लागू हुए दस दिन हो गए। कार्रवाई भी हो रही मगर सुधार नहीं दिख रहा। 23 मार्च से तीन अप्रैल तक लॉकडाउन और ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करते 12 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। 11 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज हुई और 453 वाहनों को जब्त किया गया है। इस दौरान पुलिस ने 11 लाख 61 हजार रुपये का जुर्माना वसूल किया है।

सुस्त हुई पुलिस, सड़क पर बढ़ गए वाहन 

लॉकडाउन के शुरुआत के एक-दो दिन तो कड़ाई दिखी मगर अब धीरे-धीरे लोगों का डर दूर हो रहा। ट्रैफिक और थाना पुलिस भी कुछ प्रमुख चौराहों पर ही दिख रही है। प्रमुख चौराहों को छोड़ अन्य बाजार में वाहन लेकर घूमकर रहे लोगों से पुलिस पूछताछ तक नहीं कर रही है। जहां हर दिन सौ से अधिक वाहनों का चालान कट रहा था अब उससे भी अधिक वाहन सड़कों पर दिख रहे हैं। लेकिन, पुलिस कार्रवाई के नाम पर कोने में बैठी रह रही है। 

23 बाइक सवारों से जुर्माना वसूला


लॉकडाउन है। सड़क खाली है, फिर हेलमेट लगाने की क्या जरूरत? राजधानी के बाइक सवार आदत से मजबूर हैं। लेकिन, पुलिस भी कार्रवाई करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। शुक्रवार को भी बड़े पैमाने पर वाहन चेकिंग अभियान चला। इसमें हेलमेट नहीं पहनने पर 23 बाइक सवारों से जुर्माना वसूला गया। अभियान शाम चार बजे तक चला। इसके अलावा सीट बेल्ट नहीं लगाने पर आधा दर्जन कार सवारों का चालान कटा। ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, लगभग एक लाख से अधिक जुर्माना वसूला गया। 

एक्जीबिशन रोड और इनकम टैक्स पर पकड़ी गई सबसे ज्यादा बाइक

शुक्रवार को चले अभियान के दौरान सबसे अधिक बाइक एक्जीबिशन रोड और इनकम टैक्स पर पकड़ी गईं। लॉकडाउन के बावजूद बाइक पर दो लोग बैठकर सफर करते नजर आए। बड़ी बात थी कि अधिसंख्य बाइक पर बैठे दोनों लोगों ने हेलमेट नहीं पहन रखा था। नाके में जैसे ही उनकी बाइक की रफ्तार कम होती कि पुलिस घेर कर पकड़ लेती। जिनके वाहन के कागजात फरवरी से पहले दुरुस्त नहीं थे, उनसे जुर्माना लिया गया। पुलिस ने वैसे वाहनों का चालान नहीं किया, जिनका पॉल्युशन, फिटनेस या इंश्योरेंस सर्टिफिकेट फरवरी या उसके बाद फेल हुआ। 

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस