पटना । राजधानी में नाला उड़ाही 15 मार्च से शुरू होने पर संशय के बादल दिख रहे हैं। मेयर सीता साहू व नगर आयुक्त ने पिछले वर्ष नाला उड़ाही में गड़बड़ी को देखते हुए 15 मार्च से नाला उड़ाही कराने की घोषणा की थी। इस वर्ष अधिकतर नाला उड़ाही मशीन से होनी है। इसके लिए टेंडर किया गया था। अब तक नाला उड़ाही के लिए टेंडर का बिड तक नहीं खोला गया है।

ज्ञात हो कि अभी राजधानी के कई इलाकों में जलजमाव की स्थिति है। इससे आम लोगों की परेशानी काफी बढ़ी हुई है।

------

सुरक्षा के लिए मशीन से कराई जाएगी नालों की उड़ाही :

पिछले वर्ष नाला उड़ाही के दौरान मजदूर की हुई मौत से सबक लेते हुए निगम इस वर्ष मशीन से नाला की उड़ाही कराएगा। कहीं पर ज्यादा जरूरत पड़ने पर ही मजदूरों को नाले में उतारा जाएगा। मजदूर से सफाई कराने के पूर्व सुरक्षा के सभी उपाय किए जाएंगे। जलजमाव से निपटने को लेकर निगम छोटे-छोटे कार्यो को स्वयं कराएगा। इसमें एक-दूसरे से नहीं जुड़े नालों को कनेक्ट किया जाएगा। इसके लिए नगर निगम की सशक्त स्थायी समिति लगभग डेढ़ करोड़ रुपये स्वीकृत भी कर चुकी है।

---------------

मैनहोल में ऑक्सीजन के साथ उतरेंगे मजदूर :

मशीन से नाला उड़ाही के क्रम में अगर जरूरी हुआ तो सफाई मजदूर ऑक्सीजन मास्क के साथ नाले में उतरेंगे। इसके लिए सभी उपकरणों की व्यवस्था निगम की ओर से की जाएगी। इसके लिए ऑक्सीजन सिलेंडर, गैस मास्क, टॉर्च, लाइट, वर्दी आदि की खरीदारी की तैयारी चल रही है।

------

15 मार्च से नाला उड़ाही की तैयारी निगम की ओर से की जा रही है। इसके लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाई गई है। इसके तहत हो सकता है कि कुछ कार्य आरंभ न हो। लेकिन प्रयास होगा कि निगम अपने स्तर से नाला की उड़ाही आरंभ कर दे।

- विशाल आनंद, उप नगर आयुक्त सफाई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस