भागलपुर, जेएनएन। स्थानीय टीएनबी लॉ कॉलेज में शुक्रवार को एक छात्रा ने कक्षा में ही सहेली पर सब्जी काटने वाले चाकू से हमला कर दिया। हालांकि, छात्रा हमले में बाल-बाल बच गई। घटना की सूचना मिलते ही बरारी पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। कक्षा चलने तक पुलिस वहां तैनात रही।  

क्लास चलने के दौरान हुई घटना  

सुबह नौ बजे सेमेस्टर नौ और पांच की संयुक्त कक्षा चल रही थी। व्याख्याता अमित कुमार अकेला एवीडेंस एक्ट पढ़ा रहे थे। उसी दौरान एक छात्रा सीट से उठी और क्लास का दरवाजा बंद कर दिया। बैग से सब्जी काटने वाला चाकू निकाला और सहेली के गर्दन पर चाकू से हमला कर दिया। हालांकि सहेली बच गई चाकू उसे नहीं लगी। इसके बाद छात्रा खुद अपने हाथ की नस काटने की कोशिश करने लगी। जब शिक्षक ने उसे रोकने की कोशिश की तो उसने उन्हें भी धमकी दी। बाद में क्लास के सभी छात्र-छात्राओं ने मिलकर क्लास का दरवाजा खोला और हमलावर को पकड़ कर बाहर निकाल दिया। इस घटना से कॉलेज परिसर में अफरा-तफरी मच गई। कुछ छात्र हमलावर छात्रा को पकड़कर प्राचार्य डॉ. संजीव कुमार सिन्हा के पास ले गए। प्राचार्य की सूचना पर बरारी थानाध्यक्ष नवनीश कुमार दलबल के साथ मौके पर पहुंचे।

एक दिन पूर्व सहेली से हुआ था विवाद  

हमलावर छात्रा पांच वर्षीय डिग्री कोर्स की पढ़ती है। पीडि़त छात्रा त्रिवर्षीय डिग्री कोर्स में पढ़ती है। कोर्स एक होने के कारण दोनों सेमेस्टर की कक्षा एक साथ चल रही थी। पीडि़त ने बताया कि गुरुवार को सीट पर बैग रखने को लेकर उसका दूसरी छात्रा से उसकी नोंकझोक हो रही थी। इसी बीच हमलावर छात्रा उसका पक्ष लेकर हमसे उलझ गई। वह बार बार क्षमा मांगने के लिए दवाब डाल रही। इस बारे में गुरुवार को ही उसने हमलावर छात्रा की प्राचार्य से लिखित शिकायत भी की थी। उसी बात को लेकर शुक्रवार को वह चाकू लेकर कॉलेज पहुंची थी। आज क्लास शुरू होने के पहले भी उसने ने मुझे मार देने की धमकी दी थी। जबकि हमलावर छात्रा ने कहा कि सभी आरोप बेबुनियाद है।  

पहले भी इस तरह की हरकत कर चुकी है छात्रा : प्राचार्य 

प्राचार्य डॉ. संजीव कुमार सिन्हा ने बताया कि छात्रा पढऩे में काफी तेज है। उसका रिजल्ट भी अच्छा होता है। लेकिन पिछले कुछ दिनों से वह तनाव में है। हाल में ही उसने लाइब्रेरी की किताबें फाड़ दी थीं। कुछ दिन पहले सीनियर और जूनियर छात्रों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम किया था। उस समय भी उसने मंच पर चढ़कर एंकङ्क्षरग कर रहे छात्र से माइक छीन लिया था। उसके अभिभावक को बुलाया गया है। घटना के संबंध में तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय प्रशासन को कार्रवाई के लिए लिखकर भेजा जा रहा है। 

कहते हैं थानेदार

छात्रा के हमले से किसी को चोट नहीं आई है। डराने-धमकाने तक मामला सीमित है। दोनों छात्राओं से बयान लेकर इस मामले की जांच की जा रही है। 

- नवनीश कुमार, थानाध्यक्ष, बरारी  

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।