पटना, राज्य ब्यूरो। भाकपा माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने बुधवार को पत्रकारों से कहा कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 को खत्म ही करना था तो उसके तरीके भी संविधान में बताए गए हैं। इसे कश्मीर की विधानसभा से पास होना चाहिए था। आज कश्मीर में जो हालात है, उसके बारे में सच सामने नहीं आ रहा है। सरकार कश्मीर के हालात के बारे में झूठ बोल रही है।

उन्होंने यह भी कहा कि एनआइए कानून में संशोधन करके किसी भी नागरिक पर आतंकवाद का इलजाम लगाकर दो साल के लिए उसके मानवाधिकार छीन लिए जा सकते हैं, उसकी संपत्ति भी छीनी जा सकती है। यह बहुत खतरनाक है। आरटीआइ कानून का आम आदमी इस्तेमाल कर रहा था। लोकतंत्र का थोड़ा विस्तार हुआ था। उसे खत्म कर लोगों के सूचना पाने के अधिकार को खत्म कर दिया गया। उन्होंने तीन तलाक पर कहा कि तीन तलाक को अपराध बताकर जो एक्ट पारित किया गया, वह न्याय प्रणाली व मुस्लिम समुदाय के लिए खतरनाक संकेत हैं। पत्रकार सम्मेलन में पार्टी के राज्य सचिव कुणाल व पोलित ब्यूरो के सदस्य धीरेन्द्र झा व राजाराम सिंह शामिल थे।

9 अगस्त से 7 नवंबर तक ग्राम सभा का आयोजन

पटना : भाकपा माले की दो दिवसीय बैठक में राज्य में बाढ़-सुखाड़ की स्थिति पर चर्चा हुई। बैठक में भूमि अधिकार, पक्का मकान आदि सवालों पर 9 अगस्त से लेकर 7 नवंबर तक खेतिहर ग्राम मजदूर सभा के ग्राम सभाएं आयोजित की जाएंगी।  गांव-गांव में बातचीत होगी। पंचायत, प्रखंड व जिला मुख्यालय पर धारावाहिक आंदोलन चलेगा। 9 नवंबर को पटना में प्रदर्शन और सम्मेलन होगा। अखिल भारतीय किसान महासभा के बैनर से 27-29 अगस्त को प्रखंडों में धरना दिया जाएगा।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप