पटना [जेएनएन]। आज गुरु पूर्णिमा के अवसर पर पटना सहित पूरे बिहार में गंगा व अन्‍य नदी घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। श्रद्धालुओं ने वहां स्‍नान कर पूजा-अर्चना की व दान-पुण्‍य किए।

गुरु पूर्णिमा के दिन गंगा में स्नान करने के बाद पूजा करने की अपनी महत्‍ता है। खासतौर से गुरु की पूजा का विशेष महत्व है। इस दिन लोग अपने गुरु के लिए व्रत भी रखते हैं। श्रद्धालु अपने तथा परिजनों की सलामती की प्रार्थना भी करते हैं।

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर मुंगेर के योगाश्रम में विशेष समारोह का आयोजन किया गया। इसमें भक्‍त स्‍वामी निरंजनानंद के भजन पर झूमते दिखे। उधर, गुरु पूर्णिमा के दिन देवघर के बाब धाम में भगवान शिव को जलार्पण के लिए सुल्‍तानगंज गंगा घाट से जल ले लाने वाले भक्‍तों का तांता कांवरिया पथ पर लगा हुआ है।

भारत में गुरु पूर्णिमा के पर्व का बड़ा महत्‍व है। प्राचीन काल में शिष्‍य गुरु के आश्रम में निःशुल्क  शिक्षा ग्रहण करते थे। वे गुरु पूर्णिमा के दिन श्रद्धा भाव से गुरु का पूजन कर उन्हें अपने सामर्थ्य के अनुसार दक्षिणा देते थे।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस