आरा, जागरण संवाददाता। भोजपुर जिले के उदवंतनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत आरा- सासाराम मुख्य मार्ग पर दुलारपुर स्थित हनुमान मंदिर के बरामदे से फंदे से.लटके हालत में गुरुवार की सुबह एक युवक का शव मिलते ही सनसनी फैल गई। बाद में पुलिस ने वहां पहुंच कर फंदे से लटके शव को नीचे उतरवाया और फिर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल, आरा भेज दिया। युवक के गर्दन में गमछा बंधा हुआ था। पुलिस की मानें पहले पानी में डूबने से मौत हुई है और फिर गर्दन में गमछा बांधकर लटका दिया गया है। अभी तक मृतक की पहचान नहीं हो सकी है। शव मिलने को लेकर मंदिर के बाहर भीड़ लगी रही।

सुबह टहलने निकले ग्रामीणों की पड़ी नजर

बताया जाता है कि गुरुवार की सुबह दुलरपुर गांव के ग्रामीण टहलने के लिए निकले थे। इस दौरान  देखा कि हनुमान मंदिर के पिछले बरामदे की छत की कुंडी  में गमछा लगा एक 38 वर्षीय युवक का शव लटका हुआ  पड़ा है। ग्रामीणों ने तत्काल इसकी खबर स्थानीय चौकीदार को दी। चौकीदार नागमणी ने घटना की खबर  उदवंतनगर थाना प्रभारी ज्योति कुमारी को दी। घटना की खबर सुनते ही उदवंतनगर थाना की पुलिस मौका- ए- वारदात पर पहुंच गई। ग्रामीणों से पूछताछ कर छानबीन की गई। स्थानीय लोगों से शिनाख्त कराने का भी प्रयास किया गया, लेकिन किसी ने शव की पहचान नहीं की। इसके बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए आरा भेज दिया गया।

पुलिस ने कहा, मरने के बाद मंदिर के छत की कुंडी लटकाया गया

इधर, पुलिस ने जो मृत्यु समीक्षा रिपोर्ट में जिक्र किया है, उसके अनुसार युवक की मौत पानी में डूबने से हुई है। बाद में मंदिर के छत की कुंडी से शव को लटका दिया गया है। गर्दन में गमछा बंधा मिला है। लोग हैरान हैं कि डूब कर मरे शख्‍स को कोई फंदे से क्‍यों लटकाएगा, वह भी मंदिर में। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत का सही वजह स्पष्ट हो सकेगा। मौके पर थानाध्यक्ष  ज्योति कुमारी, सहायक अवर निरीक्षक वाहीद अली सहित पुलिस बल के जवान मौजूद थे।