पटना [जेएनएन]। बीते दिनों बिहार के राजगीर स्थित सीआरपीएफ प्रशिक्षण केंद्र में एक सिपाही पर खौलता पानी फेंकने का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि सीआरपीएफ से एक और विवाद जुड़ गया है। ताजा मामला असम के सिलचर में बिहार के भोजपुर के निवासी एक सीआरपीएफ जवान की साथी द्वारा गोली मारकर हत्‍या का है। घटना के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका है।

असम में साथी ने मार दी गोली, मौत

बिहार के भोजपुर जिला स्थित पीरो प्रखंड के नोनार गांव के निवासी विमलेश उपाध्‍याय असम के सिलचर में स्थित सीआरपीएफ कैंप में पदस्‍थापित थे। वहां सोमवार की रात खाना खाने के बाद उनकी हत्‍या एक साथी ने ही गोली मारकर कर दी। सीआरपीएफ के एक जवान ने अपने दो साथियों को गोली मार दी, जिनमें विमलेश भी शामिल था। गोलीबारी में घायल दूसरे जवान की स्थिति गंभीर है।

स्‍वजनों को शव का इंतजार

घटना के कारणों का अभी तक पता नहीं चल सका है। पुलिस मामले का अनुसंधान कर रही है। इधर, बिहार के भोजपुर में मृत जवान के परिवार में माहौल मातमी है। स्‍वजन शव का इंतजार कर रहे हैं।

राजगीर में सिपाही पर फेंका था खौलता पानी

विदित हो कि सीआरपीएफ से जुड़ा यह कोई पहला विवाद नहीं। बीते जनवरी में बिहार के राजगीर स्थित सीआरपीएफ प्रशिक्षण केंद्र में एक सिपाही सिपाही अमोल खरात पर खौलता पानी फेंकने का आरोप वहां पदस्‍थापित डीआइजी डीके त्रिपाठी पर लगा। मामले की जांच के बीच उनका स्‍थानांतरण मणिपुर कर दिया गया है।

उस घटना को दबाने की पूरी कोशिश की गई, लेकिन जब यह सोशल मीडिया पर लीक हो गई तो पहले तो लीपालोती में सफाई भरे बयान आए, फिर डीआइजी को स्‍थानांतरित कर दिया गया। घायल सिपाही को वर्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान( विम्स), पावापुरी में भर्ती कराया गया। घायल सिपाही महाराष्ट्र के सांगली जिले के कोल्हापुर स्थित इस्लामपुर खड़कावाड़ी गांव का निवासी है। वह सीआरपीएफ के राजगीर कैंप में रसोइया है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस