पटना [जेएनएन]। लोकसभा चुनाव में सीट नहीं दिये जाने को लेकर वामदल गुस्से में है। खासकर भाकपा (CPI) ने रविवार को इसे लेकर कड़े शब्दों में ऐलान कर दिया है। भाकपा की रविवार को हुई बैठक में साफ कर दिया कि राजद उसे तरजीह दे या न दे, लेकिन बेगूसराय से जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार हर हाल में चुनाव लड़ेंगे। 

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने रविवार को राज्य सचिवमंडल की उच्चस्तरीय बैठक में यह ऐलान किया कि बेगूसराय लोकसभा सीट से किसी भी कीमत पर पार्टी के युवा नेता कन्हैया कुमार को ही चुनाव लड़ाया जाएगा। बतौर उम्मीदवार कन्हैया के नाम की अनुशंसा पार्टी के पोलित ब्यूरो से की जा चुकी है। 

यही नहीं राज्य सचिव मंडल ने बेगूसराय के अलावा पांच अन्य सीटों मधुबनी, खगडिय़ा, मोतिहारी, गया एवं बांका से उम्मीदवारों के नाम की अनुशंसा सेंट्रल कमेटी से कर दी है। 

बैठक के बाद पार्टी के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह ने बताया कि केन्द्रीय कमेटी अब कन्हैया कुमार को बेगूसराय से उम्मीदवार बनाने की घोषणा करेगी। उन्होंने कहा कि सीट शेयरिंग के मसले पर राजद ने भाकपा को तरजीह नहीं दी है। राजद के इस रवैये से भाकपा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

पार्टी के राज्य सचिवमंडल ने तय किया है कि राजद बेगूसराय सीट भाकपा को नहीं भी देगी, तब भी पार्टी कन्हैया कुमार को यहां से उम्मीदवार बनाएगी। इसके लिए बेगूसराय सीट पर हमारी चुनावी तैयारी जोरों पर है। उन्होंने बताया कि पार्टी ने बेगूसराय से कन्हैया कुमार के अलावा मधुबनी से रामनरेश पाण्डेय, खगडिय़ा से सत्य नारायण सिंह, मोतिहारी से शालिनी, गया से जानकी पासवान एवं बांका से संजय कुमार सिंह को उम्मीदवार बनाने के लिए सेंट्रल कमेटी से अनुशंसा की है। यदि पार्टी चाहेगी तो नवादा सीट पर भी उम्मीदवार देंगे।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप