पटना, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर (Third Wave of Coronavirus) की आशंका रोकने के लिए सरकार हरसंभव उपाय कर रही है। इसी क्रम में निर्देश जारी किया गया है कि होटल, रेस्टोरेंट, मॉल, किराना दुकानदारों को लाइसेंस व अन्य कागजात के साथ प्रतिष्ठान में सभी कर्मचारियों के टीकाकरण का फाइनल प्रमाणपत्र  (Final Certificate of Vaccination) रखना होगा। इसका पालन सुनिश्चित नहीं कराने वाले प्रतिष्ठानों को खाद्य संरक्षा विभाग बंद करा सकता है। यह जानकारी खाद्य संरक्षा विभाग के पदाधिकारी अजय कुमार ने दी।

संक्रमण की संभावना कम करने का प्रयास 

अजय कुमार ने बताया कि होटल, रेस्टोरेंट, मॉल, मिठाई, बेकरी व किराना दुकानों में कई लोग काम करते हैं। इनके यहां काफी भीड़ होती है, इससे कोरोना संक्रमण दूसरों तक फैल सकता है। इस आशंका को कम करने के लिए सभी प्रतिष्ठानों के संचालकों को सूचित किया जा रहा है कि वे अपने साथ सभी कर्मचारियों और उनके परिवार को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज दिलाना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही प्रतिष्ठानों में काम करने वाले सभी लोगों के टीकाकरण के फाइनल प्रमाणपत्र की कापी रखने का निर्देश दिया गया है। जो ऐसा नहीं करेगा उसे कोरोना संक्रमण फैलाने का दोषी मानते हुए यथोचित कार्रवाई की जाएगी। वैक्सीन लेने तक उनका प्रतिष्ठान बंद कराया जा सकता है।

आज चलाया जा रहा विशेष अभियान 

कोरोना की तीसरी लहर रोकने के लिए सबसे ज्यादा संवेदनशील जिले पटना में अधिक से अधिक लोगों के टीकाकरण को शुक्रवार को दूसरे मेगा वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन किया जा रहा है। इसमें 21 जून को हुए पहले मेगा टीकाकरण कैंप से दोगुना यानी 87 हजार लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य रखा गया है। बताते चलें कि 21 जून के मेगा कैंप में 43 हजार 500 लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया था। सभी 23 प्रखंडों के लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है। डीएम डा. चंद्रशेखर सिंह ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्धारित लक्ष्य और माइक्रो प्लान के अनुसार उससे अधिक उपलब्धि हासिल करने का निर्देश दिया है। टीकाकर्मियों की ससमय उपस्थिति और टीकाकरण व डाटा इंट्री का लगातार फीडबैक लेने के लिए सभी प्रखंडों में कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं। डीएम ने अब तक छूटे लोगों से इस मेगा कैंप में टीकाकरण कराने और दूसरों को भी प्रेरित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि वैक्सीन ही कोरोना से सुरक्षित कर सकती है। 

Edited By: Vyas Chandra