पटना। इस बार पटना नगर निगम के बजट में कई नए प्रावधान लाने की तैयारी है। इसको लेकर कार्रवाई तेज हो गई है। बजट की कॉपी की छपाई अंतिम चरण में है। इस वर्ष पार्षदों के लिए भी विशेष व्यवस्था रहेगी। उन्हें राज्य से बाहर दूसरे नगर निगम के कार्यो का मुआयना करने के लिए अधिकतम 40 हजार रुपये का प्रावधान किया गया है। यहीं नहीं वार्डो के विकास के लिए 'मुख्यमंत्री कच्ची गली-नाली योजना' के अतिरिक्त कार्यो के लिए 80-80 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। राजधानी में जलापूर्ति के लिए हर वार्ड में दो-दो बोरवेल लगाने का भी प्रावधान किया जा है। नगर निगम की 26 मार्च को होने वाली 2018- 19 की बजट बैठक में इस पर मुहर लगेगी। इसके अतिरिक्त पार्क, खेल-मैदान के लिए भी विशेष प्रावधान किया गया है। निगम मुख्यालय निर्माण के लिए 3.80 करोड़ रुपये और नगर निगम की संपत्ति की चारदीवारी के लिए दो करोड़ रुपये खर्च करने का प्रावधान बजट प्रारूप में किया गया है।

-----

: शौचालय के लिए खर्च होंगे 13 करोड़ :

पटना नगर निगम वर्ष 2018-19 में शहर में शौचालय बनाने के लिए 13 करोड़ रुपये खर्च करेगा। इस राशि से सामुदायिक शौचालय, सार्वजनिक शौचालय, यूरिनल आदि का निर्माण किया जाएगा। स्लम इलाकों में 80 कम्युनिटी शौचालय का निर्माण किया जाना है। यहां जगह नहीं होने पर मोबाइल टॉयलेट की व्यवस्था की जाएगी।

--------

: कहते हैं वार्ड पार्षद :

हमारा इलाका पंचायत से वार्ड बना है। इसलिए निगम प्रशासन को बजट में इन इलाकों के लिए विशेष प्रावधान करने की जरूरत है। वार्ड में नागरिक सुविधाओं के लिए प्याऊ, सामुदायिक हॉल, शौचालय आदि की व्यवस्था के लिए बजट में राशि का प्रावधान होना चाहिए।

- सुचित्रा सिंह, वार्ड पार्षद 22 बी

-------

वार्ड में जन सुविधाएं बढ़ाने के लिए बजट में प्रावधान होना चाहिए। उम्मीद भी है कि वार्ड में सुविधा बढ़ाने के लिए आवश्यक कदम भी उठाए जाएंगे।

- किरण मेहता, वार्ड 53

--------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस