पटना, जेएनएन। बिहार में पिछले 24 घंटे के भीतर कोरोना के 21 नए पॉजिटिव केस पाए गए हैं, जिसके बाद राज्य में हड़कंप मच गया है। इसके साथ ही राज्‍य में कोरोना पॉजिटिव के अबतक कुल मामले 60 हो चुके हैं। बिहार का सिवान जिला अब कोरोनाे का हॉटस्पॉट बन गया है। शुक्रवार की सुबह आई जांच रिपोर्ट में इसी जिले के दो केस पॉजिटिव मिले हैं जो रघुनाथपुर प्रखंड के उसी गांव से जुड़े हैं जहां के एक मरीज की ट्रैवल हिस्ट्री ओमान की है। इसके साथ ही सिर्फ सीवान जिले में ही कोरोना के कुल 29 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं जिसमें से चार लोग ठीक हो चुके हैं और होम क्वारेंटाइन में हैं।

सिवान के 29 पॉजिटिव मामलों में 18 एक ही परिवार या गांव के हैं, जो रघुनाथपुर प्रखंड में हैं। वहीं एक मरीज दूसरे प्रखंड का है, जो दुबई से सीवान लौटा था। जिस परिवार के 18 सदस्य पॉजिटिव पाए गए हैं उस परिवार का एक सदस्य हाल ही में ओमान से लौटा था। इनमें शामिल 14 महिलाएं हैं और 5 पुरुष शामिल हैं।

सिवान से मिला एक और मामला 16 मार्च को दुबई से लौटे एक व्‍यक्ति का है। वहीं बिहार के बेगूसराय में भी गुरुवार को दो मामले पॉजिटिव मिले हैं। उनमें 15 वर्षीय लड़का और एक 18 वर्षीय युवक है। स्वास्थ्य विभाग उनका विवरण जुटा रहा है कि कहीं उनकी भी कोई ट्रैवल हिस्ट्री तो नहीं या विदेश से लौटे किसी व्यक्ति के संपर्क में तो दोनों नहीं आए। यदि एेसा है तो ठीक है, नहीं तो ये चिंता की बात साबित हो सकती है।

जानकारी के मुताबिक सिवान में ओमान से लौटे परिवार में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़  गई है। इसके एहतियातन स्वास्थ्य विभाग ने जिले को हाई अलर्ट कर दिया है जिसके बाद जिला प्रशासन ने सिवान के एकही  गांव से 94 लोगों को कोरोना वायरस की जांच के लिए उनका सैंपल लेकर पटना भेजा है।

बता दें कि इससे पहले मंगलवार की शाम इसी गांव के चार कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए थे। इसमें तीन महिलाएं और एक पुरुष शामिल हैं। पटना से सूचना मिलने के बाद सभी चार संक्रमितों को देर रात जिला प्रशासन ने बस से मुख्यालय बुलवाया और जांच के लिए पटना भेज दिया।

मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव हुई महिलाओं में एक पूर्व में पॉजिटिव हुए युवक की मां और दूसरी पत्नी है। तीसरा युवक रिश्तेदार है और चौथी एक नाबालिग किशोरी है। ऐसे में मंगलवार को एक ही परिवार के पांच सदस्य कोरोना की चपेट में हैं।

उधर, जांच रिपोर्ट आने के बाद पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल हो गया है। सूत्रों की मानें तो अभी पीड़ितों की तादाद बढ़ सकती है, क्योंकि कुछ और लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है।

बताते चलें कि जिले में 27 मार्च को पहला कोरोना का संक्रमित मरीज मिला था। इसके बाद 31 मार्च को बड़हरिया प्रखंड में दो, दरौली व हसनपुरा प्रखंड में एक-एक मरीज की पुष्टि हुई थी। इसके बाद कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा संक्रमित मरीजों के स्वजनों की भी जांच कराई गई।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस