जागरण संवाददाता, पटना: अब साइबर ठग कोविड वैक्सीन की बूस्टर डोज के नाम पर लोगों को शिकार बनाने की कोशिश कर रहे हैं। डोज लेने के लिए रजिस्ट्रेशन कराने की बात कहकर वे नाम, पता और अन्य जानकारी हासिल कर ले रहे हैं। रजिस्ट्रेशन के नाम पर शातिर लिंक भेज ओटीपी मांग रहे हैं। यदि आपने ओटीपी दे दिया तो यह गलती आपका अकाउंट खाली करा सकती है। आर्थिक अपराध ईकाई की साइबर क्राइम सेल को ऐसी शिकायतें मिली हैं। उसने लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। साथ ही कभी भी ओटीपी शेयर ना करने की बात कही है।

दरअसल दोनों डोज लगवा चुके फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को बूस्टर डोज  लगायी जा रही है। अब ठगों ने इसे अपना हथियार बना लिया है। वे लोगों को बूस्टर डोज लगाने के लिए काल कर रहे हैं। 

शातिर ऐसे बना सकते हैं ठगी का शिकार

-बूस्टर डोज लेने के लिए जालसाज आपको काल या मैसेज कर रहे हैं। फोन पर कहा जा रहा है कि आपने कोविड वैक्सीन की दोनों डोज ले ली है। आप बूस्टर डोज के लिए एलिजिबल हैं। इसके लिए आपका रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। 

-बूस्टर डोज के रजिस्ट्रेशन के नाम पर शातिर आपसे वैक्सीनेशन से जुड़ी जानकारी यथा आपका आधार नंबर, नाम, उम्र, पता, मोबाइल नम्बर जैसी जानकारियां ले लेते हैं। 

- फिर रजिस्ट्रेशन की बात कहकर आपको पहले ओटीपी भेजा जाएगा और रजिस्ट्रेशन कंप्लीट करने के लिए ओटीपी की मांगा जाता है।

-साइबर अपराधी द्वारा आपको मैसेज या ईमेल के माध्यम से एक लिंक भेजकर उसपर क्लिक कर रजिस्ट्रेशन कंप्लीट करने की बात कहते हैं। 

-ओटीपी शेयर करने या लिंक पर क्लिक करने के बाद आप ठगी के शिकार हो सकते हैं ।

भूल कर भी ना करें ये काम

-ऐसे फ्रॉड कॉल से सावधान रहें एवं इसका कभी जवाब न दें।

-किसी अनजान व्यक्ति से किसी भी प्रकार का ओटीपी नंबर शेयर ना करें। 

-किसी अनजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये लिंक पर क्लिक न करें, ऐसा करने पर आपका बैंक खाता खाली हो सकता है।

Edited By: Akshay Pandey