पटना, राज्य ब्यूरो। कोरोना के बढ़ते कहर के बीच बिहार सरकार ने तीसरी बार राज्य में पूर्ण लॉकडाउन का फैसला किया है। उसकी मियाद 16-31 जुलाई तय की गई है। लॉकडाउन की अवधि में बसों का परिचालन नहीं होगा। हालांकि, ऑटो और कैब के साथ ही निजी वाहनों के परिचालन पर कोई रोक नहीं होगी। राजधानी, जिला और प्रखंड मुख्यालय के तहत आने वाले सारे क्षेत्रों में अगले 16 दिनों के लिए कई प्रकार की गतिविधियां पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेंगी।

मंगलवार को सरकार ने जारी किया आदेश

मंगलवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में आपदा प्रबंधन की बैठक हुई। उसमें सहमति के बाद पूर्ण लॉकडाउन का आदेश जारी कर दिया गया। शाम में गृह विभाग ने लॉकडाउन की गाइडलाइन जारी कर दी। कंटेनमेंट जोन में सभी तरह की गतिविधियां प्रतिबंधित की गई हैं। राज्य सरकार तथा भारत सरकार के कार्यालय, अद्र्धसरकारी कार्यालय और सार्वजनिक निगमों के कार्यालय बंद रहेंगे। सभी प्रकार की राजनीतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और खेल गतिविधियां ठप रहेंगी।

इन सेवाओं को लॉकडाउन से राहत

सेना, केंद्रीय सुरक्षा बल, कोषागार, सार्वजनिक उपयोगिता (पेट्रोल, सीएनजी, एलपीजी), आपदा प्रबंधन, ऊर्जा क्षेत्र, डाकघर, बैंक, एटीएम और मौसम विभाग जैसी चेतावनी देने वाली एजेंसियां लॉकडाउन से मुक्त रहेंगी। पुलिस, सुरक्षा और आपातकालीन सेवाएं खुली रहेंगी। बिजली, पानी, स्वास्थ्य, सिंचाई, खाद्य वितरण, कृषि और पशुपालन विभाग लॉकडाउन से मुक्त हैं। मोबाइल शॉप, रिपेयरिंग शॉप, गैराज, मोबाइल रिपेयरिंग शॉप खोलने की अनुमति जिला प्रशासन के स्तर पर दी जा सकेगी।

 

ये सेवाएं रहेंगी बंद...

 - आवश्यक केंद्र सरकार के अधीन सभी दफ्तर लॉकडाउन के दौरान पूरी तरह बंद रहेंगे।

- बिहार सरकार के अधीन सभी सरकारी कार्यालय भी लॉकडाउन के दौरान बंद रहेंगे। सिर्फ बिजली, पानी, स्वास्थ्य, सिंचाई, खाद्य वितरण, कृषि एवं पशुपालन विभागको छूट दी गई है।

- सभी कॉमर्शियल और प्राइवेट संस्थान बंद रहेंगे।

- धार्मिक स्थल पूरी तरह से बंद रहेंगे।

- शॉपिंग माल बंद रहेंगे।

इनको दी गई है छूट...

- प्रदेश भर में सभी अस्पताल और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों और कार्यों को पूरी तरह लॉकडाउन से छूट दी गई है।

 - फल, सब्जी, अनाज, दूध, मछली आदि के दुकान खुल सकेंगे। हालांकि प्रशासन इनकी होम डिलिवरी की हर संभव व्यवस्था करने का प्रयास करेगा।

- सभी बैंक और एटीएम खुले रहेंगे।

- होटल, रेस्त्रां या ढाबे खुले रहेंगे, लेकिन वहां खाने की व्यवस्था लॉकडाउन के दौरान नहीं कर सकते, उन्हें सिर्फ पैकिंग की सर्विसेज देनी होगी।

 - रेल, हवाई सफर को मंजूरी दी गई है, हालांकि आटो टैक्सी पूरे राज्य में संचालित रहेंगे। इसके अलावा जरूरी सेवाओं के लिए ही प्राइवेट गाड़ियों का संचालन हो सकता है। बाकी सभी ट्रांसपोर्ट सर्विस बाधित रहेगी।

बिहार में तेजी से बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्या

बता दें कि, बिहार में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। पिछले कुछ दिनों से मरीजों की संख्या हजारों में मिल रही है। मुंगवार को भी कोरोना के 1432 नए मरीज मिले। बिहार के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी सहित कई वीआइपी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। एक साथ बीजेपी के 75 नेताओं की कोरोना की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस