पटना, जेएनएन। अपने ही मंत्री ने नीतीश कुमार के फैसले पर उठाया सवाल तो नीतीश कुमार ने भी उसका करारा जवाब दिया। सीएम नीतीश ने अपनी ही पार्टी के मंत्री माहेश्वर हजारी के उस सवाल का सीधा जवाब दिया है जिसमें हजारी ने नीतीश के फैसले पर सवाल उठाते हुए बड़ा आरोप लगाया था, जिसके समर्थन राजद ने किया था। 

नीतीश कुमार ने कहा-उनसे तो मैं 'ठीक से बात' करूंगा

मीडिया में बयान देने वाले मंत्री महेश्वर हजारी के बारे में जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जानकारी मिली तो सीएम ने कहा कि उनसे तो मैं 'ठीक से बात' करूंगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस बात का ऐलान समस्तीपुर में सार्वजनिक सभा में किया। उन्होंने कहा कि मैं अपने मंत्री से पूछूंगा कि उन्होंने क्या बयान दिया है।

हजारी ने कहा था कि किसी बड़े नेता के दबाव में समस्तीपुर मुख्यालय से दूर और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) के रूल के खिलाफ जाकर अस्पताल का निर्माण कराया जा रहा है। हजारी ने इस फैसले को विरोध करते हुए कहा कि ये ठीक नहीं है।

समस्तीपुर में सीएम नीतीश कुमार ने मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास के बाद हजारी के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि मेडिकल कॉलेज दूसरे जिले में नहीं बन रहा है। जो इसके विरोध में हैं, वो अपने समय में क्या कर रहे थे? हम बिहार में हर हाल में विकास का काम करते रहेंगे, जिन्हें जो कहना और करना हो करें। 

दरअसल समस्तीपुर में नीतीश कुमार ने बुधवार को श्री राम जानकी मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया, जिसे लेकर विपक्षी दल के साथ ही अपनी ही पार्टी के नेता ने नीतीश कुमार के फैसले का विरोध किया। शिलान्यास से पहले नीतीश के ही मंत्री महेश्वर हजारी ने इशारों-इशारों में बड़ा आरोप लगा दिया। 

मंत्री की नाराजगी का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि समस्तीपुर निवासी रहने बावजूद भी वो वहां नहीं गए। हालांकि हजारी ने कहा कि मुझे कहीं दूसरी जगह कार्यक्रम में जाना है इस वजह से मैं नही जा रहा। इस मामले में विपक्षी पार्टी राजद के नेताओं ने भी नीतीश के इस फैसले का विरोध किया, तो मंत्री महेश्वर हज़ारी का राजद का सपोर्ट करते हुए कहा कि जो लोग विरोध कर रहे हैं उनका विरोध जायज है।

इस फैसले के विरोध में राजद के समस्तीपुर विधायक और पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने भी मोर्चा खोल दिया और कहा कि इस मुद्दे पर आंदोलन करेंगे।

शाहीन ने कहा कि दरभंगा में पिछले दिनों हुई समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा समस्तीपुर जिला मुख्यालय स्थित हाउसिंग बोर्ड मैदान में ही मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन कुछ राजनीतिक दलों और विशेष नेताओं के दवाव में उसे सरायरंजन ले जाया गया है, जो कहीं से उचित नहीं है।

उधर, इस मामले में कांग्रेस विधायक अशोक कुमार ने भी नीतीश सरकार पर निशाना साधा और कहा कि नीतीश कुमार ने भी समस्तीपुर जिला के तमाम विधायकों को आश्वासन दिया था कि मेडिकल कॉलेज समस्तीपुर मुख्यालय में ही बनेगा लेकिन एक बड़े नेता के दबाव की वजह से ऐसा नहीं हो सका। MCI रूल के खिलाफ जाकर इस अस्पताल को मुख्यालय से दूर बनाया जा रहा है, जो सही नहीं है। 

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस