पटना [जेएनएन]। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद का नाम लिए बगैर उन पर तंज करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ट्वीट लगातार दूसरे दिन वायरल रहा। बुधवार की सुबह मुख्यमंत्री ने व्यंग्यात्मक अंदाज में ट्वीट किया। मुख्यमंत्री के उक्त ट्वीट को सात घंटे में 4240 लाइक्स मिले और एक हजार लोगों ने सीएम के ट्वीट को रीट्वीट किया। मुख्यमंत्री ने बुधवार को सुबह नौ बजे ट्वीट किया।

जान की चिंता, माल-मॉल की चिंता,
सबसे बड़ी देशभक्ति है !

— Nitish Kumar (@NitishKumar) November 29, 2017

बुधवार को मुख्यमंत्री का ट्वीट लालू प्रसाद से संबंधित कई मुद्दों से जुड़ा था। पहली लाइन थी जान की चिंता। यानी केंद्र सरकार द्वारा एनएसजी और सीआरपीएफ की सुरक्षा वापस लिए जाने पर लालू प्रसाद की आपत्ति के विषय को मुख्यमंत्री ने जोड़ा। इसके बाद की लाइन है माल-मॉल की चिंता।

यह मामला लालू प्रसाद की बेनामी संपत्ति और काफी चर्चा में रहे उनके राजधानी स्थित बेली रोड के मॉल से संबंधित है। इन दोनों को लेकर लालू परिवार की तिलमिलाहट पर मुख्यमंत्री ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा है-सबसे बड़ी देशभक्ति है यह।

मुख्यमंत्री के इस ट्वीट राजनीतिक गलियारे में बुधवार को खूब चर्चा हुई। पूर्व केंद्रीय मंत्री हुकमदेव नारायण यादव ने नीतीश कुमार के ट्वीट पर लिखा- जिसका यार शहाबुद्दीन, जान को ले वो काहे उदासीन। जदयू प्रवक्ता नीरज ने अपनी प्रतिक्रिया में लिखा कि- विपक्ष राजनीतिक रूप से नाबालिग है। इसलिए प्राणरक्षा, माल-मॉल की चिंता।

मालूम हो कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को लालू प्रसाद की एनएसजी और सीआरपीएफ की सुरक्षा वापस लिए जाने पर ट्वीट करते हुए लिखा था कि राज्य सरकार द्वारा जेड प्लस और एसएसजी की मिली  हुई सुरक्षा के बावजूद केंद्र सरकार से एनएसजी और सीआरपीएफ के सैकड़ों सुरक्षाकर्मियों की उपलब्धता के जरिए लोगों पर रोब गांठने की मानसिकता साहसी व्यक्तित्व का परिचायक है।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस